कोरोना वैक्सीनेशन में भारत ने रचा इतिहास, 1 दिन में फिर हुआ 1 करोड़ से ज्यादा का टीकाकरण

Last Updated: मंगलवार, 31 अगस्त 2021 (23:08 IST)
नई दिल्ली। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा है कि देश में 5 दिनों में दूसरी बार शनिवार को कोविड-19 रोधी टीकों की 1 करोड़ से अधिक खुराक दी गई हैं और अब तक कुल 65 करोड़ से अधिक खुराक दी जा चुकी हैं। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मांडविया ने बताया कि शाम 6 बजे तक 1 दिन में सर्वाधिक 1.09 करोड़ खुराक लगाने का रिकॉर्ड हासिल किया गया तथा 50 करोड़ लोग पहली खुराक ले चुके हैं।
ALSO READ:

Corona के स्वरूपों का विकसित होना टीकाकरण से बचने का कारण नहीं...

उन्होंने ट्वीट किया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में दुनिया के सबसे बड़े टीकाकरण अभियान के तहत एक अन्य उपलब्धि हासिल की गई। 50 करोड़ लोग कोविड 19 रोधी टीके की पहली खुराक ले चुके हैं। इस उपलब्धि को हासिल करने में मदद पहुंचाने के लिए कोविड योद्धाओं और लोगों की लगन की तारीफ करता हूं। उन्होंने लिखा कि बधाई, भारत ने आज मंगलवार कोविड 19 रोधी टीके की लगाई। शाम 6 बजे तक 1.09 करोड़ खुराक लगाने का 1 दिन का सर्वाधिक रिकॉर्ड- गिनती अभी जारी है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में भारत कोरोना का जोरदार ढंग से मुकाबला कर रहा है।


भारत को 10 करोड़ खुराक तक पहुंचने में 85 दिन लगे। उसे 20 करोड़ के आंकड़े तक पहुंचने में 45 दिन एवं 30 करोड़ तक पहुंचने में और 29 दिन लगे। देश को 40 करोड़ के आंकड़े तक पहुंचने में बाद के 24 दिन तथा 6 अगस्त को 50 करोड़ का आंकडा पार करने के लिए 20 और दिन लगे। उसने 25 अगस्त को 60 करोड़ का आंकड़ा पार करने के लिए 19 दिन और लिए।
देश में 16 जनवरी को टीकाकरण अभियान शुरू किया गया था और इसकी शुरुआत स्वास्थ्यकर्मियों से की गई थी। फिर उसमें 2 फरवरी से अग्रिम मोर्चा कर्मी शामिल किए गए। 1 मार्च से अगले चरण में 60 साल के ऊपर के तथा अन्य गंभीर बीमारी से ग्रसित 45 साल के ऊपर के लोग शामिल किए गए। 1 अप्रैल से इस अभियान में 45 साल से ऊपर के सभी लोगों को जोड़ लिया गया। फिर 1 मई को टीकाकरण का विस्तार करके सरकार ने 18 साल से ऊपर के सभी व्यक्तियों को टीका लगाने का फैसला किया।




एसएसआई ने 60 करोड़ टीकों की आपूर्ति की : भारत में अब तक दी गई कोविड-19 रोधी टीके की खुराक की संख्या भले ही 65 करोड़ के आंकड़े को पार कर गई है, लेकिन इनमें से 60 करोड़ से ज्यादा खुराक सिर्फ सीरम इंस्टीट्यूट द्वारा आपूर्ति की गई कोविशील्ड टीके की है। आधिकारिक सूत्रों ने मंगलवार को यह जानकारी दी। पुणे स्थित कंपनी द्वारा भारत सरकार, राज्य सरकारों और निजी अस्पतालों को अब तक 60 करोड़ से अधिक खुराक की आपूर्ति की गई है। मंगलवार को 5 दिनों में दूसरी बार प्रतिदिन का कोविड-19 टीकाकरण का आंकड़ा 1 करोड़ से अधिक रहा जिससे देश में अभी तक दी गई खुराक की कुल संख्या बढ़कर 65 करोड़ से अधिक हो गई।
एसआईआई में सरकार और नियामक मामलों के निदेशक प्रकाश कुमार सिंह ने नीति आयोग के सदस्य (स्वास्थ्य) डॉ. वीके पॉल और केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव राजेश भूषण को भेजे एक पत्र में कहा कि जब सरकार ने दिसंबर, 2020 में अगस्त, 2021 तक कोविड-19 रोधी टीके की 60 करोड़ खुराक देने का लक्ष्य रखा था तो राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय मीडिया के कुछ वर्गों ने इस पर गंभीर संदेह व्यक्त किया था कि क्या वह इसे हासिल करने में सक्षम होगी?
एक सूत्र के अनुसार सिंह ने कहा कि आपको याद होगा कि उस समय राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय मीडिया के कुछ वर्गों ने इस लक्ष्य को प्राप्त करने पर गंभीर संदेह व्यक्त किया था। आज अगस्त, 2021 के अंतिम दिन यह वास्तव में पूरे देश के लिए गर्व का क्षण है कि हमारे प्रधानमंत्री के दूरदर्शी नेतृत्व में सरकारी तंत्र के अथक प्रयासों से हमारे देश ने न केवल अगस्त, 2021 तक कोविड-19 रोधी टीके की 60 करोड़ खुराक देने का लक्ष्य हासिल किया है, बल्कि उससे आगे निकल गया है।
सिंह ने उल्लेख किया कि अकेले एसआईआई ने कोविशील्ड की 60 करोड़ से अधिक खुराक की आपूर्ति की है। हम सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया (एसआईआई) में हमारे सीईओ अदार सी. पूनावाला के सक्षम नेतृत्व में इस दुनिया के सबसे बड़े कोविड​​​​-19 टीकाकरण अभियान का हिस्सा बनने पर गर्व महसूस करते हैं और यह बताते हुए खुशी हो रही है कि आज तक अकेले एसआईआई ने भारत सरकार, राज्य सरकारों और निजी अस्पतालों को कोविशील्ड की 60 करोड़ से अधिक खुराक की आपूर्ति की है। सूत्रों के अनुसार सिंह ने कहा कि एसआईआई सितंबर 2021 से प्रतिमाह 20 करोड़ कोविशील्ड खुराक की आपूर्ति करने के लिए उत्पादन क्षमता को और बढ़ाने की कोशिश कर रहा है।(भाषा)



और भी पढ़ें :