इस लेख के लिए टिप्पणियाँ बंद हो गयी है..

टिप्पणियां

Rajdeep

Shameless article by a misogynist. Our ancestors have also written these, why have you not quoted it. +++++++++++ यत्र नार्यस्तु पूज्यन्ते रमन्ते तत्र देवताः । यत्रैतास्तु न पूज्यन्ते सर्वास्तत्राफलाः क्रियाः ।। इस श्लोक का अर्थ है: जिस जगह पर नारी की पूजा होती है अर्थात स्त्रियों का सम्मान किया जाता है, वहां पर देवता निवास करते हैं अर्थात उस कुल के सभी कार्य संपन्न हो जाते है। परंतु जिस जगह पर नारी का सम्मान नही होता और स्त्रियों का अपमान किया जाता है, वहाँ किये गए सभी कार्य, यज्ञ, अनुष्ठान आदि निष्फल हो जाते है और उस कुल का कोई भी कार्य संपन्न नही होता। +++++++++++ Tulasidas has also written Ramcharitramanas, how many of us imbibe those learning in our real life. Instead of blaming it on ancestors, start fixing from one's home. Teach your son to respect women and daughter to stand for herself. Once home improves, society will improve by itself.
X REPORT ABUSE Date 08-05-21 (12:42 PM)