0

Career Guidance : बारहवीं के बाद बेहतर करियर कैसे खोजें

शुक्रवार,अप्रैल 1, 2022
0
1
आप चाहे किसी भी पोस्ट व स्तर पर इंटरव्यू देने जा रहे हो, चाहे आपका पहला इंटरव्यू हो या तीसरा व चौथा लेकिन अमूमन हर कोई अपने इंटरव्यू से पहले नर्वस होता ही है।इंटरव्यू से पहले थोड़ी घबराहट
1
2
ऐसे कई विद्यार्थी होते है जिन्हें रात में पढ़ाई करना ज्यादा भाता है व कई बार परीक्षा की घड़ी में रात-रात भर जागकर पढ़ने की जरूरत पड़ती है। अगर आप भी देर रात तक जागकर पढ़ाई करना चाहते हैं तो हम आपके लिए लेकर आए हैं कुछ आसान से टिप्स जिन्हें अपनाकर आपको
2
3
ये तो सभी जानते हैं कि पहला इम्प्रेशन बहुत मायने रखता है, खासकर तब जब आप किसी कंपनी में इंटरव्यू देने जा रहे हों। इंटरव्यू के लिए जाते हुए आप अपनी वेशभूषा के साथ कोई एक्सपेरिमेंट न करते हुए किसी तरह का
3
4
करियर जीवन में एक अतिमहत्वपूर्ण विषय है जिसका सही चुनाव ही आपके जीवन की आगे की दशा और दिशा तय करता है। ऐसे में किस क्षेत्र में करियर बनाना है इसका सही निर्णय लेने में ये 5 टिप्स आपके बहुत काम
4
4
5
सफलता पाने के लिए आत्मविश्वास से भरा व्यक्तित्व बहुत जरूरी है। हमेशा ही कोई आत्मविश्वास से भरा नजर आए, ऐसा जरूरी नहीं है। कई बार कुछ परिस्थिति में घबराहट व नर्वस होना स्वाभाविक है।
5
6
ऑफिस में आप अपने काम में चाहे कितने ही अच्छे क्यों न हो, लेकिन आपकी बातचीत का तरीका भी आपकी छवि बनाता है। कई बार आप अनजाने में ही कुछ ऐसे शब्दों का प्रयोग कर देते हैं, जो आपके सहकर्मियों के बीच आपकी इमेज खराब कर देते हैं। आइए,
6
7
बचपन से ही आपके स्कूल, कॉलेज में टीचर्स ने आपको नोट्स बनाने की आदत डालवाई होगी। यहां तक कि बड़े होने के बाद भी आप ऑफिस मीटिंग व किसी अन्य जरूरी चीजों को सीखने जाने पर नोट्स बनाते ही होंगे। क्या आपने कभी सोचा है कि नोट्स बनाना क्यों जरूरी होता है? और ...
7
8
आज की ताबड़तोड़ प्रतिस्पर्धा में करियर बनाना इतना आसान नहीं है। अब केवल पसंदीदा विषय में डिग्री लेना काफी नहीं है। अब नई चीजें सीखना व किताबें पढ़ना सिर्फ स्कूल-कॉलेज के साथ खत्म नहीं हो जाता। अब तो एक बार जॉब पा लेने के बाद भी आपको उसमें बने रहने के ...
8
8
9
चाहे आप कितने ही सुंदर व आकर्षक क्यों न दिखते हो... यह सब केवल दूर से देखने भर तक ठीक है। लेकिन आपके व्यक्तित्व से कोई व्यक्ति उस समय रूबरू हो जाएगा, जब आप उनसे कुछ बोलेंगे और बात करेंगे यानी कि जब कोई व्यक्ति आपकी बोली और आवाज सुनेगा। अगर उसे आपकी ...
9
10
अक्सर अगर आप भी ऐसी ही घबराहट का शिकार होते हैं और चाहते हैं कि सामने वाले को आपकी इस स्थिति का पता न चले, आपको देखकर लगे कि आप कॉन्फिडेंट हैं तो यह 8 बेहतरीन टिप्स बहुत काम के हैं...
10
11
ज्ञानवान व्यक्ति की चीजों को समझने या ग्रहण करने की क्षमता अन्य लोगों की तुलना में अधिक होती है, लेकिन सफल होने के लिए ज्ञान को सही दिशा देना भी जरुरी होता है।
11
12
अगर आप मां सरस्वती के मंत्र और श्लोक नहीं जानते हैं तो इन 11 नामों को 11 बार जपें। परीक्षा में सफलता, यश, विद्या, पराक्रम और बुद्धि के लिए बस यही 11 नाम पर्याप्त हैं।
12
13
यदि आप अपने कुल, परिवार का नाम आगे बढ़ाना चाहते हैं तो जरूरी है कि आप कुछ अलग करें, करके दिखाएं। तभी आपकी भी अपनी अलग पहचान बनेगी, वर्ना लकीर के फकीर बनकर काम करेंगे तो आप लकीर ही पीटते रह जाएंगे। वैसे भी बदलते दौर में यह जरूरी है कि आप समय के अनुसार ...
13
14
सिकंदर अपने गुरु अरस्तु के साथ एक बार बरसात के दिनों में कहीं जा रहे थे। रास्ते में उन्हें एक उफनता हुआ नाला मिला। इस पर गुरु-शिष्य में पहले नाला पार करने को लेकर बहस छिड़ गई, क्योंकि नाला दोनों के लिए नया था और उसकी गहराई का भी उन्हें अंदाजा नहीं
14
15
कहते हैं बुक्‍स इंसान की सबसे अच्‍छी फ्रेंड होती हैं। ये न कुछ माँगती हैं न ही पलट के जवाब देती हैं। और खर्चा भी आपसे सि‍र्फ एक बार ही कराती हैं वरना वैसे आपके फ्रेंड्स रोज ही आपकी जेब खाली करवाते होंगे। वेलेंटाइन डे और फ्रेंडशि‍प डे तो आप सभी को ...
15
16
लाइफ कोचिंग बहुत से भारतीयों के लिए नया शब्द हो सकता है, लेकिन पश्चिमी देशों से आई इस विधा का भारत में तेजी से प्रचलन बढ़ रहा है। तनाव, पारिवारिक एवं व्यावसायिक उलझनों में एक लाइफ कोच आपका अच्छा मददगार हो सकता है।
16
17
इंटरव्‍यू के दौरान आमतौर पर दो बातें ध्‍यान में रखी जाती हैं- पहला, जिस फील्‍ड का इंटरव्‍यू आप देने आए हैं, उसके बारे में पूरा ज्ञान और दूसरी बात आपकी बॉडी लैंग्‍वेज। बोले गए शब्‍द आपके कप्‍यूनिकेशन का केवल 7 प्रतिशत होते हैं।
17
18

कभी बच्चों के मन को भी पढ़ें...

बुधवार,अक्टूबर 22, 2014
पिछले सप्ताह हमने देखा कि किस प्रकार करोड़ों लोग अपने पाँच-पाँच मिनट का श्रम देश के हित के लिए खर्च करें तो कई वर्षों का परिश्रम इकट्ठा हो जाएगा। इसी बात को हमारे प्रधानमंत्री अक्सर दोहराते हैं। वे कहते हैं कि यदि देश के सवा-सौ करोड़ लोग एक कदम चलें ...
18
19

समय का निवेश

बुधवार,अक्टूबर 15, 2014
प्रायः जब हम निवेश की बात करते हैं तो हमारे मन में पैसे के निवेश का विचार ही आता है। लेकिन, देखा जाए तो किसी वस्तु या सेवा के उत्पादन के लिए जिन-जिन उपादानों (ingredients) की आवश्यकता होती है, उन सबका निवेश किया जाता है। तो एक ढंग से जिस किसी पदार्थ ...
19
20

आकलनकर्ता का उत्थान

बुधवार,अक्टूबर 8, 2014
पिछले सप्ताह मैंने बताया था कि किस प्रकार हमारे अंदर बैठा एक आकलनकर्ता हमारे प्रत्येक कार्य को आकलित करता है और इस आकलन के आधार पर हमारे मन में अपने बारे में एक आत्म-बिम्ब (सेल्फ-इमेज) का निर्माण करता है। ऐसे में जब हम किसी कठिन कार्य को करने का ...
20
21

मेरे अंदर ‘वह’ कौन?

बुधवार,अक्टूबर 1, 2014
‘बुध-विचार’ के अपने पहले लेख में मैंने कहा था, कि जिस प्रकार हम दूसरों की विश्वसनीयता को इस बात से आंकते हैं कि उन्होंने हमारे साथ किए वादों को पूरा किया या नहीं, ठीक उसी प्रकार हम अपनी विश्वसनीयता को भी इसी बात से आंकते-परखते हैं कि हम अपने फैसलों ...
21
22
'उसमें आत्मविश्वास की कमी है।' 'इंटरव्यू में व्यक्ति का आत्मविश्वास परखा जाता है।' 'जिसे अपने ऊपर ही विश्वास नहीं वह दूसरों को क्या विश्वास दिलाएगा?'
22
23
जीवन में उतार-चढ़ाव आना लाजमी है। लेकिन आपके असल व्यक्तित्व की पहचान आपके उस रवैये से है जो आप परेशानियों में घिरा होने पर अपनाते हैं। कुछ लोग जीवन के सकारात्मक पहलुओं को ढूंढ-ढूंढकर अपनी जिंदगी में उत्साह बरकरार रखते हैं और कुछ लोग नकारात्मकता से ...
23
24
जिसे भी आगे बढ़ने की तमन्ना है वह दुनिया के अमीर वॉरेन बफेट को मनी फंडे जरूर जानना चाहता है। जानिए 75 वर्षीय वॉरेन बफेट के अमीर बनने के गुर-
24
25
महात्मा गांधी का प्रसिद्ध कथन है कि इंसान वैसा ही बनता जाता है जैसी वह सोच रखता है। यह कथन छोटे या बड़े हर व्यक्ति पर लागू होता है। आप जिंदगी में सफल तभी हो सकते हैं जब आप सफलता हासिल करने के प्रति अपनी सोच को सकारात्मक रखेंगे। अगर अपनी खामियां ...
25
26
जीवन में आगे बढ़ने हेतु व्यक्ति निरंतर प्रयासरत रहता है। सफलता का कोई शॉर्टकट नहीं होता। इसे प्राप्त करने के लिए व्यक्ति को निरंतर मेहनत करनी ही होती है। किसी मुकाम पर पहुंचने के लिए व्यक्ति को अपनी मंजिल का भी पता होना चाहिए। इसके बगैर किया गया ...
26
27

न दबें परफेक्शन के बोझ से

गुरुवार,अगस्त 23, 2012
राम को उसकी कंपनी में एक बड़े प्रोजेक्ट का इंचार्ज बनाया गया था, तब से ही उसके साथी उससे कॉम्पिटिशन करने लगे थे। इस बढ़ते कॅम्पिटिशन में राम अपने काम पर ज्यादा ध्यान देने लगा। वह हर कार्य को बारीकी से दो-तीन बार देखता। शुरुआत में तो सब ठीक चलता रहा, ...
27
28
अक्‍सर लोग ऑफिस या कंपनी में अपने कार्य से अपनी पहचान नहीं बना पाते। जिस पद पर रहते हैं, उससे ऊंचा पद पाने की कोशिश ही नहीं करते। सफलता के लिए संघर्ष करने का जज्बा उनके मन में नहीं रहता।
28
29
मनुष्य के व्यक्तित्व की पहचान उसके बातचीत करने के ढंग से होती है। भले ही कोई व्यक्ति कितना ही सुंदर हो, परंतु वाणी में कर्कशता या रुखापन हो तो वह कभी किसी को अपनी ओर आकर्षित नहीं कर सकता।
29
30
देश हो या विदेश, ऐसे अनेक उदाहरण हैं जिनमें विद्यार्जन के दौर में कमजोर माने गए बच्चे या वे बच्चे, जिन्हें औपचारिक शिक्षा मिली ही नहीं, बड़े होने पर अपने कार्यक्षेत्र के दिग्गज बने। विज्ञान के क्षेत्र के शिखर पुरुष न्यूटन और आइंस्टीन कमजोर छात्रों की ...
30
31

कुछ न कुछ करते रहिए

मंगलवार,जुलाई 3, 2012
यह हमारे स्वभाव में है कि लगातार एक जैसा का काम करते रहने से बोरियत होती है। बचपन में हर कोई यह सोचता है कि बड़े होने पर मैं यह करूंगा, वह करूंगा। लेकिन जब हम बड़े होते हैं तो एक ही काम को लगातार करके अक्सर हमें बोरियत महसूस होती है।
31
32
यह हम सभी मानते हैं कि सफलता के लिए कड़ी मेहनत और दृढ़ इच्छाशक्ति की जरूरत होती है और यह अक्सर कई सारे इंस्टीट्यूट और करियर विज्ञापनों में सार्वभौमिक सत्य और सफलता के मंत्र के रूप में उपयोग किया जाता है। आधुनिक विकसित देश की कल्पना में बहुत सारे करियर ...
32