डॉक्टर का दावा- बायोपोलर डिसऑर्डर से जूझ रहे थे सुशांत सिंह राजपूत, रिया कर रही थीं अच्छे से देखभाल

Last Updated: शुक्रवार, 4 सितम्बर 2020 (14:10 IST)
हमें फॉलो करें
केस में हर दिन नए खुलासे हो रहे है। हाल ही में सुशांत का इलाज करने वाली डॉक्टर ने मुंबई पुलिस को जो बयान दिया था उसकी कॉपी वायरल हो रही है। इस बयान में डॉ. वॉकर ने कई चौंकाने वाले खुलासे किए हैं।

खबरों के अनुसार डॉ. वॉकर के बयान के मुताबिक रिया सुशांत की बहुत अच्छे से देखभाल कर रही थीं और सुशांत खुद ही कई बार अपनी मर्जी से दवाएं देना बंद कर देते थे। डॉक्टर वॉकर ने कहा कि सुशांत अपनी मां के बहुत ज्यादा करीब था और इसके बाद वह अपनी बहनों के करीब हो गया, लेकिन मुझे नहीं लगा कि वह अपने पिता के करीब है।

डॉक्टर के मुताबिक, सुशांत बाइपोलर डिसऑर्डर से जूझ रहे थे। उन्होंने कहा उन्हें पता चला कि सुशांत पिछले 20 साल से इस दिकक्त से जूझ रहा है। सुशांत ने खुद डॉक्टर वॉकर को बताया कि बहुत युवा उम्र से ही उन्हें ये दिक्कतें हो रही थीं। यही लक्षण उसने 2013 से 2014 के बीच महसूस किए थे। हर बार ये लक्षण पहले से ज्यादा बढ़ जाते थे।
डॉक्टर वॉकर ने बताया कि सुशांत अपनी बीमारी के बारे में जानते थे लेकिन जैसे ही वह थोड़ा बेहतर महसूस करते थे वह दवाइयां लेना बंद कर देते थे। वह रेग्युलर बेसिस पर ट्रीटमेंट नहीं ले रहे थे।। सुशांत जब उनके पास आए तब तक उनकी दिक्कत बहुत ज्यादा बढ़ चुकी थी।

डॉ. वॉकर ने बताया कि बायपोलर डिसऑर्डर एक तरह का रासायनिक असंतुलन है, इसमें बेहिसाब पैसा खर्च करना, 4-4 5-5 दिन तक नींद नहीं ले पाना, सब कुछ खोने और सब कुछ जल्दी जल्दी करने की चाहत होना जैसी चीजें होती हैं। वॉकर ने बताया कि सुशांत में जल्दी-जल्दी सोचने, जल्दी-जल्दी बातें करने और बैचेनी जैसे लक्षण नजर आए थे।



और भी पढ़ें :