जानिए कैसे चुनी जाती हैं मिस यूनिवर्स? हरनाज संधू ने 21 साल बाद भारत को दिलाया ताज

पुनः संशोधित सोमवार, 13 दिसंबर 2021 (12:10 IST)
हमें फॉलो करें
चंडीगढ़ की हरनाज संधू ने का खिताब अपने नाम कर लिया है। भारत ने 21 साल बाद एक बार फिर यह खिताब जीतने में कामयाबी हासिल की है। इससे पहले साल 2000 में भारतीय सुंदरी लारा दत्ता ने यह खिताब जीता था। लारा से पहले 1994 में मिस यूनिवर्स बनी थीं।


इजरायल के इलियट में आयोजित 70वीं मिस यूनिवर्स प्रतियोगिता में प्रीलिमिनरी स्टेज में 75 से ज्यादा खूबसूरत और प्रतिभाशाली महिलाओं ने भाग लिया था लेकिन टॉप 3 में तीन देशों की महिलाओं ने जगह बनाई इसमें से एक भारत की हरनाज संधू भी रहीं।

हरनाज संधू ने साउथ अफ्रीका और पैराग्वे की प्रतिभागी को पछाड़ कर यह खिताब अपने नाम किया। 21 साल की हरनाज पेशे से एक मॉडल हैं।
मिस यूनिवर्स का मतलब ब्रह्माण्ड सुन्दरी होता है। ये भी मिस वर्ल्ड की तरह होने वाली एक प्रतियोगिता है जो मिस यूनिवर्स संगठन द्वारा हर साल आयोजित की जाती है। ये एक वार्षिक अंतरराष्ट्रीय सौन्दर्य प्रतियोगिता है। इसकी स्थापना एक कपड़े की कम्पनी पेसेफिक मिल्स ने 1952 में कैलिफ़ोर्निया, यूनाइटेड स्टेट्स में की। बाद में कैसर-रोथ और उसके बाद गल्फ एंड वेस्टर्न इण्डस्ट्रीज का हिस्सा बनी।

खबरों के अनुसार मिस यूनिवर्स की विजेता को सैलरी भी मिलती है। हालांकि, यह सैलरी सिर्फ एक साल के लिए होती है। इसके बाद नई मिस यूनिवर्स को यह सैलरी दी जाती है। इसके अलावा विनर को न्यूयार्क फिल्म एकेडमी कॉलेज की ओर से विजुअल परफॉर्मिंग आर्ट में स्कॉलरशिप भी मिलती है।

कैसे चुनी जाती हैं मिस यूनिवर्स
मिस यूनिवर्स प्रतियोगिता, द मिस यूनिवर्स आर्गनाइजेशन द्वारा आयोजित कराया जाता है। इसके लिए हर देश में पार्टनर कंपनियों का चयन किया जाता है, जो विभिन्न शहरों में प्रतियोगिताएं आयोजित करती हैं। इसके बाद नेशनल लेवल पर एक प्रतियोगिता होती है। इन प्रतियोगिताओं में वैश्विक स्तर के लिए प्रतिभागी का चयन किया जाता है। इसके बाद उम्मीदवारों को मिस यूनिवर्स प्रतियोगिता में भाग लेना होता है। सेमीफाइनल और फाइनल के बाद विजेता का चयन किया जाता है।

मिस यूनिवर्स के अंतिम सवाल-जवाब चरण में हरनाज संधू से पूछा गया था कि वर्तमान समय में युवा महिलाएं जो दबाव महसूस कर रही हैं, उससे निपटने के लिए वह उन्हें क्या सलाह देंगी।

इस का जवाब देते हुए संधू ने कह था, वर्तमान समय में युवा जिस बड़े दबाव का सामना कर रहे हैं, वह है खुद पर विश्वास करना। यह जानना कि आप अद्वितीय हैं और यही आपको सुंदर बनाता है। दूसरों के साथ खुद की तुलना करना बंद करें और दुनिया भर में हो रही महत्वपूर्ण चीजों के बारे में बात करें। यही आपको समझने की जरूरत है। बाहर आएं और खुद के लिए बात करें क्योंकि आप ही अपनी जिंदगी के नेतृत्वकर्ता हैं, आप ही खुद की आवाज हैं। मैंने खुद पर भरोसा किया इसलिए आज मैं यहां खड़ी हूं।



और भी पढ़ें :