अजय देवगन को किच्चा सुदीप का जवाब, बोले- कन्नड़ भाषा में लिखा होता तो...

Last Updated: गुरुवार, 28 अप्रैल 2022 (13:49 IST)
हमें फॉलो करें
बॉलीवुड एक्टर और साउथ स्टार के बीच ट्विटर पर जंग छिड़ गई है। इस जंग की शुरुआत तब शुरू हुई जब ‍किच्चा सुदीप ने कहा था कि हिन्दी राष्ट्रभाषा नहीं रह गई। किच्चा के इस बयान पर अजय देवगन ने उन्हें घेरा था।

अजय देवगन ने ट्वीट कर लिखा था, किच्चा सुदीप, मेरे भाई, आपके अनुसार अगर हिंदी हमारी राष्ट्रीय भाषा नहीं है तो आप अपनी मातृभाषा की फिल्मों को हिंदी में डब करके क्यों रिलीज करते हैं? हिंदी हमारी मातृभाषा और राष्ट्रीय भाषा थी, है और हमेशा रहेगी। जन गण मन।

अब किच्चा सुदीप ने अजय देवगन के इस ट्वीट का जवाब देते हुए लिखा, 'सर, जिस कॉन्टेक्स्ट में मैंने वह बात कही, मुझे लगता है कि मेरी उस बात को बहुत अलग तरीके से लिया गया है। शायद मैं अपनी बात को बेहतर ढंग से आपके सामने तभी रख सकूं, जब मैं आपसे मिलूंगा। मेरी बात को कहने का मतलब यह नहीं था कि मैं किसी की भावनाओं को ठेस पहुंचाऊं, उत्तेजित करूं या फिर किसी विवाद को बढ़ावा दूं। मैं ऐसा क्यों ही करूंगा सर।

सुदीप ने आगे लिखा, मैं अपने देश की हर भाषा का सम्मान करता हूं। मैं इस टॉपिक को आगे नहीं बढ़ाना चाहता। मैं चाहता हूं कि यह यहीं खत्म हो जाए। जैसा कि मैंने कहा कि मेरे कहने का मतलब वह नहीं था, जो समझा जा रहा है। आपको ढेर सारा प्यार और विशेज। उम्मीद करता हूं कि आपसे मैं जल्द ही मिलूं।

किच्चा ने अगले ट्वीट में लिखा, अजय देवगन सर, मुझे समझ आया जो आपने हिंदी में टेक्स्ट भेजा है। यह इसलिए क्योंकि हम सभी हिंदी का सम्मान करते हैं, उससे प्यार करते हैं और हमने यह भाषा सीखी है। कोई गिला नहीं सर, लेकिन मैं बस यही सोच रहा हूं कि अगर मैंने यही ट्वीट कन्नड़ भाषा में लिखा होता तो क्या स्थिति बनती। क्या हम सभी इंडिया से बिलॉन्ग नहीं करते हैं सर?
किच्चा सुदीप के ट्वीट का जवाब देते हुए अजय देवगन ने लिखा, हेलो किच्चा सुदीप। तुम मेरे दोस्त हो। गलतफहमी दूर करने के लिए तुम्हारा शुक्रिया। मैंने हमेशा से ही फिल्म इंडस्ट्री को एक देखा है। हम सभी हर भाषा की इज्जत करते हैं और यही उम्मीद करते हैं कि सभी हमारी भाषा की इज्जत करें। शायद, ट्रांसलेशन में कुछ खो गया था।
बता दें कि किच्चा सुदीप का एक वीडियो वायरल हुआ था जिसमें उन्होंने कहा था कि पैन इंडिया फिल्में कन्नड़ में बन रही हैं, मैं इसपर एक छोटा सा करेक्शन करना चाहूंगा। हिंदी अब नेशनल लैंग्वेज नहीं रह गई है। आज बॉलीवुड में पैन इंडिया फिल्में की जा रही हैं। वह तेलुगू और तमिल फिल्मों का रीमेक बना रहे हैं, लेकिन इसके बाद भी स्ट्रगल कर रहे हैं। आज हम वे फिल्में बना रहे हैं जो दुनियाभर देखी जा रही हैं।



और भी पढ़ें :