शो 'विघ्नहर्ता गणेश' में मनसादेवी का किरदार निभाते हुए इशिता ने सीखा जिंदगी का एक महत्वपूर्ण सबक

Last Updated: बुधवार, 30 दिसंबर 2020 (16:52 IST)
हमें फॉलो करें
जिंदगी के सफर में एक इंसान बहुत-सी बातों का अनुभव करता है, लेकिन एक बात हमेशा कही जाती है कि अच्छा या बुरा वक्त गुजर ही जाता है और हमें सिर्फ मजबूत बने रहने चाहिए। सोनी एंटरटेनमेंट टेलीविजन के शो 'विघ्नहर्ता गणेश' में मनसादेवी का रोल निभा रहीं इशिता ने भी इस शो में काम करते हुए जिंदगी का एक बड़ा महत्वपूर्ण सबक सीखा है कि आपको कभी हार नहीं मानना चाहिए और अपने रास्ते में आने वाली हर मुश्किलों का डटकर सामना करना चाहिए।

इस शो में इस समय भगवान गणेश की सलाह पर मनसा सीधे चंद्रधर की मदद करने का फैसला करती हैं। लेकिन मनसा के द्वारा जीवन बचाए जाने के बावजूद चंद्रधर अपनी अंधश्रद्धा के चलते मनसा की हर पहल की अनदेखी करता है। वो अपना जीवन बचाने का श्रेय शिव को देता है। ऐसे में अब मनसा क्या करेगी?

इस ट्रैक के दौरान यह दिखाया गया है कि इशिता का किरदार मनसा स्वयं को देवी के रूप में पूजे जाने की इच्छा रखती हैं और इसके लिए उन्हें कुछ ऐसा करना होगा ताकि लोग उन्हें पूजने लगे। इसके लिए वे भरपूर प्रयास करती हैं। इस दौरान उन्हें बहुत-सी मुश्किलों का सामना करना पड़ता है, लेकिन अंत में उन्हें देवी के रूप में सम्मानित किया जाता है।
इशिता मानती हैं कि जिंदगी में कुछ भी हो, मनसादेवी की तरह ही लड़ना चाहिए और उसे पाने के लिए अपना दिल लगा देना चाहिए। इशिता ने कहा, अपनी जिंदगी में हम बहुत-सी चुनौतियों का सामना करते हैं, खासतौर पर तब, जब हमें कुछ बड़ा हासिल करना हो।

उन्होंने कहा, हमें पता है कि हम जो भी रास्ता चुनें, उसमें हमें बहुत मेहनत करनी पड़ती है, लेकिन सबसे अच्छी बात जो हम कर सकते हैं, वो यह कि कभी हार ना मानें और हमेशा आगे बढ़ते रहें क्योंकि तब ही हम वो हासिल कर सकते हैं जो हमें चाहिए। मेरे किरदार मनसादेवी के साथ भी कुछ ऐसा ही है। उन्होंने सभी विपत्तियों का सामना करते हुए वो प्राप्त किया जो वो चाहती थीं।



और भी पढ़ें :