अक्षय कुमार से ये उम्मीद नहीं थी कि पैसों की खातिर करेंगे ये काम

को देखते ही सबसे पहले ध्यान फिटनेस पर जाता है। तंदुरुस्ती का पर्याय हैं वे। सदा लोगों को मोटिवेट करते रहते हैं। रात को जल्दी सोने और सुबह जल्दी उठने के फायदे बताते रहते हैं। 4 बजे उठकर फिट रहने के लिए सारे जतन करते हैं। सूर्यास्त के बाद कुछ खाते नहीं है। वे अपनी फिटनेस और नियमों का सदैव डंका बजाते रहते हैं। फिल्म इंडस्ट्री तो पार्टियों के लिए मशहूर है और अक्षय इनमें यदाकदा ही शिरकत करते हैं। पार्टी में शामिल भी हुए तो शराब और सिगरेट से दूर ही रहते हैं। 
इसी बीच पान मसालों के विज्ञापनों ने जोर पकड़ लिया है। इतने बड़े-बड़े सितारों को जोड़ लिया है और विज्ञापनों में इतना पैसा बहाते हैं कि हैरत होती है कि ये कितना कमाते हैं। केसर किसी ने खाई क्या, देखी भी नहीं होगी और ये इलायची, सुपारी और पान मसालों में केसर मिलाने का दावा करते हैं। 
 
अमिताभ बच्चन, अजय देवगन, शाहरुख खान, टाइगर श्रॉफ, महेश बाबू, प्रियंका चोपड़ा, सलमान खान, रितिक रोशन जैसे तमाम दिग्गज सुपारी, इलायची या पान मसालों का एड करते नजर आते हैं। हद तो तब हो गई थी जब जेम्स बांड की भूमिका अदा करने वाले हॉलीवुड सितारे से भी उन्होंने यह काम करवा लिया था। बाद में जब उस सितारे को पता चला कि माउथ फ्रेशनर के नाम पर वह कितनी खतरनाक चीज का विज्ञापन कर रहा है तो उसने करार तोड़ा। 
 
अमिताभ बच्चन ने भी जब इन खतरनाक उत्पादों का विज्ञापन शुरू किया था तो लोगों ने कहा कि आपको ये काम करने की क्या जरूरत है? आपके पास भरपूर मात्रा में नाम और दाम है। पहले तो बिग बी ने कुछ तर्क दिए, लेकिन बाद में जब लगा कि बात बिगड़ रही है तो फौरन ट्वीट किया कि वे करार तोड़ रहे हैं। इसके बावजूद अब तक उनके विज्ञापन टीवी पर नजर आ रहे हैं।
 
तंबाकू के खिलाफ लोगों को जागृत करने वाले, डॉक्टर्स के एसोसिएशन कई बार सितारों से कह चुके हैं कि इन उत्पादों के विज्ञापन ना करें क्योंकि इनके वो फैंस जो ज्यादा पढ़े-लिखे नहीं होते इन चीजों का इस्तेमाल करना फैशन समझते हैं और फिर बीमारियों के शिकार हो जाते हैं। लेकिन पैसों की खनक के आगे ये सितारे खुद को लाचार पाते हैं। 
 
पुराना किस्सा है। शम्मी कपूर ने एक बार पान मसाले का विज्ञापन कर लिया। बात जब बड़े भाई राज कपूर को पता चली तो उन्होंने शम्मी को तलब किया कि पैसों की जरूरत थी तो मुझसे मांग लेते। यह विज्ञापन करने की जरूरत क्या है? खैर, अब नैतिकता की उम्मीद सिर्फ सितारों से ही करना भी नाइंसाफी है, लेकिन अक्षय की बात इसलिए कि ये स्वस्थ रहने को लेकर खूब बातें करते रहते थे और अब पैसों की खातिर वे भी पान मसाला यूनिवर्स का हिस्सा बन गए। खिलाड़ी कुमार से ये उम्मीद ना थी।  



और भी पढ़ें :