skin care tips - अंडरआर्म्स में वैक्सिंग के बाद फुंसियों से परेशान है तो आजमाएं ये आसान उपाय

Last Updated: गुरुवार, 14 अक्टूबर 2021 (14:29 IST)

सभी की स्किन अलग-अलग प्रकार की होती है। इसलिए किसी भी प्रकार के प्रोडक्ट का इस्तेमाल बहुत सावधानी से करना चाहिए। वहीं वैक्सिंग के दौरान भी कई लड़कियों को परेशानियों का सामना कराना पड़ता है। अंडरआर्म्स में वैक्सिंग के बाद लड़कियों को बारीक - बारीक फुंसियां हो जाती है तो किसी को बहुत अधिक खुजली होने लगती है। ऐसे में यह

एक परेशानी बन जाती है। आइए जानते हैं कैसे इस समस्या से छुटकारा पाएं -

1. ग्रीन टी का मिश्रण
ग्रीन टी सेहत के लिए तो अच्‍छी है, सुंदरता में भी चार चांद लगाती है। हालांकि आपको ग्रीन टी को सीधे इस्तेमाल नहीं करना है। इसका एक मिश्रण तैयार करना है। इसके लिए आपको ग्रीन टी बैग, आधा कप पानी और कुछ बूंदे नींबू के रस की चाहिए। आधा कप गर्म पानी में कुछ नींबू के रस की बूंदे डाल दें और उसमें ग्रीन टी बैग को 2 से 3 मिनट केलिए डूबों कर रख दें। इसके बाद ग्रीन टी बैग को निकाल लें। रूई की मदद से 5 मिनट तक मिश्रण से मालिश करें। इसके बाद फिर सूती कपड़े से हल्‍के हाथों से पोंछ लें। कोशिश
करें दिन में 3 बार इस तरीके को अपनाएं।

2. एप्‍पल साइडर विनेगर

कई वायरस और बैक्टीरिया से लड़ने में कारगार है खासकर जो पिंपल्स का कारण बन सकते हैं। इसकी मदद से अंडरआर्म्स में होने वाली फुंसियों की वजह से सूजन को भी काम करने में मदद करेगा। क्‍योंकि इसमें मौजूद स्यूसिनिक एसिड होता है जो पिंपल्स के साथ धब्बों को भी सही करता है। आइए जानते हैं कैसे बनाएं इसका मिश्रण -

- 2 चम्मच पानी और 1 चम्मच एप्पल साइडर विनेगर लें। दोनों को अच्‍छे से मिक्‍स कर लें।
- 5 मिनट के लिए लगाकर छोड़ दें। और फिर धो लें।
- हफ्ते में 3 से 4 बार इसे लगाएं। आराम मिलेगा।

3.एलोवेरा और गुलाब जल

एलोवेरा सिर्फ एक नहीं अनेक दवा के रूप में काम आता है। इसमें सल्फर और सैलिसिलिक एसिड होता है। जिससे पिंपल पैदा करने वाले बैक्टीरिया कम करता है। शोध में भी यह साफ हो चुका है कि सैलिसिलिक एसिड की मदद से फुंसियों को कम करने में मदद मिलती है। इसका मिश्रण बनाने के लिए

- 2 चम्मच एलोवेरा और 1 चम्मच गुलाब जल लें।
- दोनों को अच्‍छे से मिक्‍स कर लें। - अंडरआर्म पर इसे 10 मिनट के लिए लगाकर छोड़ दें।
- 10 मिनट बाद साफ पानी से धोकर कपड़े से पोंछ लें।
- दिन में 2 बार जरूर लगाएं। चाहे तो रोज भी लगा सकते हैं।




और भी पढ़ें :