'अल्लाहु अकबर’ कहने वाली कर्नाटक की मुस्लिम छात्रा की अलक़ायदा चीफ़ ने की तारीफ़

BBC Hindi| Last Updated: बुधवार, 6 अप्रैल 2022 (11:07 IST)
चरमपंथी संगठन अलक़ायदा की ओर से एक नया वीडियो जारी किया गया है जिसमें इस संगठन के प्रमुख अयमान अल-ज़वाहिरी के ज़िंदा होने का सबूत दिया गया है।
दो मई 2011 को अलक़ायदा के प्रमुख ओसामा बिन लादेन की अमेरिकी सेना की कार्रवाई में मौत के बाद अयमान अल-ज़वाहिरी को अलक़ायदा चीफ़ बनाया गया था। ओसामा बिन लादेन को पाकिस्तान के सूबे ख़ैबर पख़्तूनख़्वा के शहर ऐबटाबाद में मार दिया गया था।

डॉक्टर अयमान अल-ज़वाहिरी कई साल तक ओसामा बिन लादेन के डिप्टी के तौर पर काम करते रहे हैं और माना जाता है कि 9/11 हमलों के पीछे उन्हीं का दिमाग़ शामिल था।
अल-क़ायदा की ओर जारी एक ताज़ा वीडियो में अल-ज़वाहिरी, कर्नाटक की छात्रा मुस्कान ख़ान की तारीफ़ कर रहे हैं। मुस्कान ख़ान कर्नाटक में हिजाब विवाद के बाद ख़बरों में आई थीं।

ग़ौरतलब है कि अलक़ायदा प्रमुख अयमान अल-ज़वाहिरी के बारे में 2020 के आख़िर में ये ख़बर फैली थी कि उनका देहांत हो चुका है या फिर वो बीमार हो चुके हैं।

ये नया वीडियो अलक़ायदा की ओर से पांच अप्रैल को जारी किया गया है जिसमें अयमान अल-ज़वाहिरी को एक ऐसी घटना के बारे में बात करते देखा और सुना जा सकता है जो आठ फ़रवरी को हुई थी।
भारत की छात्रा का ज़िक्र
इस वीडियो में ज़वाहिरी ने भारत की मुस्लिम छात्रा मुस्कान ख़ान का ज़िक्र किया है। कर्नाटक में हिजाब विवाद के दौरान हिंदू कार्यकर्ताओं के सामने 'अल्लाहु अकबर' का नारा लगाने के बाद मुस्कान ख़ान चर्चा में आई थीं और यह वीडियो वायरल हो गया था।

अलक़ायदा की ओर से जारी वीडियो में अंग्रेज़ी में लिखा है 'भारत की नेक महिला।' इस वीडियो में अयमान अल-ज़वाहिरी मुस्कान ख़ान के विश्वास भाव के प्रति सम्मान व्यक्त कर रहे हैं। इस वीडियो में अलक़ायदा प्रमुख सेहतमंद नज़र आ रहे हैं।

वीडियो को ऐसी जगह पर शूट किया गया है जो पहले के उनके वीडियो के बैकग्राउंड से काफ़ी अलग है। ये एक और निशानी है कि इस वीडियो को हाल ही में रिकॉर्ड किया गया है और ये कोई पुराना वीडियो नहीं है।

इससे पहले अक्तूबर 2020 में जब अयमान अल-ज़वाहिरी की मौत और बीमारी की ख़बरें और अफ़वाहें सामने आनी शुरू हुई थीं तो अलक़ायदा की ओर से कई वीडियो सामने आए।

लेकिन उन तमाम वीडियो में अयमान अल-ज़वाहिरी ऐतिहासिक घटनाओं और सैद्धांतिक विषयों पर बात करते नज़र आए थे, जिससे ये साबित करना मुश्किल था कि ये वीडियो क्या सच में नए हैं। उसके बाद ये शक मज़बूत हो गया कि अयमान अल-ज़वाहिरी की मौत या बीमारी से संबंधित अफ़वाहें सच हैं।
अलक़ायदा प्रमुख का नया वीडियो तक़रीबन पौने नौ मिनट लंबा है जिसको अलक़ायदा के अल-शबाब मीडिया सेल की ओर से जारी किया गया है और टेलीग्राम और रॉकेट चैट अकाउंट के ज़रिए प्रसारित किया गया है।

कौन हैं मुस्कान ख़ान
मुस्कान ख़ान कर्नाटक के मांड्या ज़िले के एक डिग्री कॉलेज में बीकॉम द्वितीय वर्ष की छात्रा हैं। मुस्कान का एक वीडियो वायरल हुआ था जिसमें वह हिजाब पहने हुए अपनी स्कूटी को खड़ी करके क्लास की ओर बढ़ती हैं और एक भीड़ उनके पीछे लग जाती है।
भगवा गमछा-पाटा ओढ़े और उग्र नारेबाज़ी करते लोग 'जय श्री राम' के नारे लगाते हुए छात्रा की ओर बढ़ते हैं जिसके बाद वो भी जवाब में भीड़ की ओर पलटकर बायां हाथ उठाकर 'अल्लाहु अकबर' का नारा लगाने लगती हैं। बीबीसी ने इस छात्रा के साथ बात करके इस वीडियो के पीछे के हालात को समझने की कोशिश की थी।

उन्होंने कहा था, "मुझे कुछ नहीं पता था, मैं हमेशा जैसे कॉलेज जाती हूं। वैसे ही गयी थी। वहां बाहर से आए लोग इस तरह ग्रुप बनाकर खड़े थे और बोले कि तू बुर्क़े के साथ कॉलेज के अंदर नहीं जाएगी। अगर तुझे कॉलेज जाना है तो बुर्क़ा और हिजाब को हटाकर अंदर जाना होगा। तुझे बुर्क़े में रहना है तो तू वापस घर चली जा।"
"मैं अंदर आ गयी। मैंने सोचा था कि मैं चुपचाप चली जाऊंगी। लेकिन वहां इतने नारे उछाले जा रहे थे। 'बुर्क़ा काढ़' और 'जय श्री राम' जैसे नारे लगा रहे थे।"

"मैंने सोचा था कि मैं क्लास में चली जाऊंगी लेकिन वो सब लड़के मेरे पीछे आ रहे थे जैसे कि वो सब मुझ पर अटैक करना चाह रहे थे। वो 40 लोग थे। मैं अकेली थी। उनमें कुछ मानवता नहीं है। एकदम से मेरे पास आए और चिल्लाने लगे। कुछ ऑरेंज वाला स्कार्फ़ पकड़े थे।"
"और मेरे मुंह के सामने स्कार्फ़ फिराने लग गए और बोल रहे थे - जय श्री राम, चले जाओ, बुर्क़ा हटाओ।"

और भी पढ़ें :