वाहन उद्योग में होगा 1.20 लाख करोड़ रुपए का निवेश, सियाम ने जताई उम्मीद

पुनः संशोधित शुक्रवार, 29 अप्रैल 2022 (22:55 IST)
हमें फॉलो करें
इंदौर (मध्यप्रदेश)। वाहन बनाने वाली कंपनियों के संगठन सोसाइटी ऑफ इंडियन ऑटोमोबाइल मैन्युफैक्चरर्स (सियाम) के एक वरिष्ठ पदाधिकारी ने शुक्रवार को कहा कि कोरोनावायरस (Coronavirus) कोविड-19 का प्रकोप थमने, ईंधन तकनीक में बदलावों और सरकारी प्रोत्साहन सरीखे कारकों से अगले 5 साल के दौरान देश के वाहन में 1.20 लाख करोड़ रुपए का हो सकता है।
के उपाध्यक्ष विनोद अग्रवाल ने इंदौर में राज्य सरकार के आयोजित पहले ‘मध्यप्रदेश ऑटो शो’ में कहा, देश में महामारी के लगभग खत्म होने, तकनीकी बदलावों और सरकारी प्रोत्साहन के बीच गाड़ियों की बिक्री के रफ्तार पकड़ने के कारण वाहन उद्योग में आने वाले दिनों में काफी निवेश आने वाला है।

उन्होंने कहा कि दुनियाभर में इन दिनों बिजली, सीएनजी, एलएनजी, एथनॉल और हाइड्रोजन आधारित ईंधनों से चलने वाली उन्नत गाड़ियां पेश की जा रही हैं। अग्रवाल ने ईंधन तकनीक में बदलावों के संदर्भ में कुछ अनुमानों के हवाले से कहा कि अगले पांच साल के दौरान देश के वाहन उद्योग में 75,000 करोड़ रुपए का निवेश होगा।

उन्होंने कहा कि देश में उन्नत रसायन सेल बैटरी (एडवांस्ड केमिस्ट्री सेल बैटरी) बनाने में 45 हजार करोड़ रुपए का अलग निवेश होने का अनुमान है। सियाम उपाध्यक्ष ने कहा, बेहतर सरकारी नीतियों, मजबूत बुनियादी ढांचे, दूसरे राज्यों से सस्ती जमीन, देश के भूगोल में केंद्रीय स्थिति और कामकाज के शांतिपूर्ण वातावरण की खूबियों के चलते मध्यप्रदेश में वाहन उद्योग के लिए निवेश के बेहतरीन अवसर हैं।

गौरतलब है कि अग्रवाल, वॉल्वो-आयशर कमर्शियल व्हीकल्स के प्रबंध निदेशक (एमडी) तथा मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) हैं और इस कंपनी का इंदौर के पास पीथमपुर औद्योगिक क्षेत्र में बड़ा संयंत्र है।(भाषा)




और भी पढ़ें :