पत्राचार में उलझा खरगोन का नर्सिंग ट्रेनिंग स्कूल

खरगोन | Naidunia| पुनः संशोधित गुरुवार, 2 फ़रवरी 2012 (00:47 IST)
हमें फॉलो करें
एक दशक पहले बमुश्किल के अस्पताल को जिला अस्पताल का दर्जा तो मिला, परंतु सुविधाओं के नाम पर अभी भी यह कई समस्याओं से जूझ रहा है। यही स्थिति यहाँ नर्सिंग ट्रेनिंग स्कूल खोलने की है। मुख्यमंत्री के आश्वासन के बाद भी प्रस्ताव पत्राचार में ही उलझा हुआ है। यहाँ चयनित उम्मीदवारों को बड़वानी स्थित ट्रेंनिंग सेंटर पर जाना पड़ रहा है।


मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी कार्यालय परिसर में ही पुराने भवनों के स्थान पर सर्वसुविधायुक्त नर्सिंग ट्रेनिंग सेंटर को स्थापित करना प्रस्तावित है। लगभग चार वर्ष पूर्व स्वास्थ्य आयुक्त अलका उपाध्याय ने इस प्रस्ताव को हरी झंडी देकर प्रस्तावित नक्शे के अनुसार प्रक्रिया को अंतिम रूप दिया था। इसी बीच मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान ने भी इसे जिले की जरूरत मानते हुए इस केंद्र के निर्माण का आश्वासन दिया था। बावजूद इसके अभी तक आश्वासन खोखला ही साबित हुआ है।


ढाई एकड़ में होगा निर्माण


सीएमएचओ डॉ. विराज भालके ने बताया कि जिला मुख्यालय पर एएनएम व जीएनएम प्रशिक्षण के लिए लगभग ढाई एकड़ भूमि में प्रस्तावित भवन का नक्शा अनुमोदन के लिए भेजा जा चुका है। आयुक्त स्वास्थ्य विभाग भोपाल से लगातार संपर्क कर इस केंद्र की शुरुआत की अनुमति माँगी जा रही है। अनुमति मिलते ही संस्था भवन, टीचिंग सेंटर व होस्टल का निर्माण करवाया जाएगा। कलेक्टर नवनीत कोठारी के अनुसार नर्सिंग ट्रेनिंग सेंटर के लिए निरंतर पत्राचार जारी है। आला अधिकारियों से चर्चा कर इस दिशा में सार्थक प्रयास किए जाएँगे।



और भी पढ़ें :