फरार सिमी आतंकियों पर एक लाख का इनाम

खंडवा (मप्र) | भाषा|
FILE
खंडवा (मप्र)। प्रतिबंधित संगठन स्टूडेंट इस्लामिक मूवमेंट ऑफ इंडिया (सिमी) के सात विचाराधीन कैदी मंगलवार तड़के साढ़े तीन बजे के आसपास जिला जेल तोड़कर फरार हो गए, हालांकि उनमें से एक आबिद मिर्जा को थोड़ी देर बाद ही पुलिस ने फिर से दबोच लिया है। शेष छह आतंकवादियों के बारे में सूचना देने वाले के लिए मध्य प्रदेश के पुलिस महानिदेशक नंदन दुबे ने एक लाख रुपए के इनाम की घोषणा की है।


वर्ष 2009 के 28 नवंबर को यहां हुए एक आतंकी हमले में आतंकवाद निरोधी दस्ते (एटीएस) के एक जवान सहित तीन लोगों की हत्या करने के आरोप में ये सातों जिला जेल में बंद थे।

पुलिस अधीक्षक मनोज शर्मा ने यह जानकारी देते हुए बताया कि फरार हुए सिमी के छ: आतंकवादियों की तलाश के लिए पुलिस की पंद्रह टीमें लगाई गई हैं, साथ ही प्रदेश के सभी जिलों की पुलिस के लिए अलर्ट जारी किया गया है।

उन्होंने बताया कि सिमी के जेल से फरार आतंकवादियों के नाम अमजद निवासी गणेश तलाई खंडवा, असलम निवासी गणेश तलाई, जाकिर हुसैन निवासी गणेश तलाई, एजाजउद्दीन निवासी नरसिंह वार्ड करेली, मेहबूब उर्फ गुड्डू निवासी गणेश तलाई तथा अबु फैजल निवासी अल्फा मेडिकल स्टोर्स जुहू अंधेरी वेस्ट मुंबई हैं।

पुलिस ने जेल से फरार हुए आबिद मिर्जा को सर्वोदय कॉलोनी से गिरफ्तार कर लिया है। खबरों के मुताबिक कैदी 2 सर्विस राईफल भी लेकर भागे हैं। भागते समय कैदियों ने दो कांस्टेबलों पर चाकू से हमला भी किया, जिन्हें अस्पताल में भर्ती करवाया गया है। (भाषा)



और भी पढ़ें :