जूही परमार की दूसरी पारी की शुरुआत

मुंबई| भाषा|
WD
विवादास्पद रियलिटी शो 'बिग बॉस' के पांचवे सत्र में विजेता बनने वाली टीवी कलाकार का कहना है कि यह टेलीविजन पर उनकी दूसरी पारी की शुरुआत है क्योंकि उनके बढ़ते वजन ने उन्हें काम से दूर कर दिया था।


उन्होंने कहा यह मेरे लिए दूसरी पारी की तरह है। मैं काम शुरु करना चाहती थी लेकिन सिर्फ वजन कम करने और सही आकार में आने के बाद। मैं करीब एक साल से काम से दूर थी। मेरा वजन मेरे काम में एक बड़ी बाधा था जो चिकित्सा कारणों से बढ़ा था।

शनिवार की रात शो की विजेता बनने के बाद जूही ने कहा, ‘लेकिन इंडस्ट्री में कोई बहाना स्वीकार नहीं किया जाता। मेरे लिए वजन कम करना चुनौती था, वह मेरा लक्ष्य था।’

उन्होंने कहा, ‘मेरे सामने का प्रस्ताव आया इसलिए मैंने इसे ले लिया। मुझे लगा काम करना शुरु करने से पहले यह सही है।' बिग बॉस में जाने से पहले जूही ने 10 किलोग्राम वजन कम किया था और जाने के बाद उन्होंने चार किलोग्राम वजन कम किया।

डेली सोप ‘कुमकुम’ से लोकप्रियता हासिल करने वाली जूही ने कहा, ‘मुझे जीत की उम्मीद नहीं थी। शो जीतने की बात छोड़िए, मुझे फाइनल तक पहुंचने की भी उम्मीद नहीं थी। मुझे लगा कि मैं कार्यक्रम का केंद्र बिंदू नहीं हूं इसलिए मैं लंबे समय तक बनी नहीं रह पाऊंगी। मैंने कभी झगड़ा या उस तरह का कुछ नहीं किया।’

उन्होंने कहा कि मैं मौन खिलाड़ी नहीं थी। मैं बात करती, हंसती, रोती, अपने विचार रखती, सच के लिए खड़ी होती। जूही को लगता है कि झगड़े या विवादों की मदद से कोई प्रतिभागी दूर तक नहीं जा सकता।
उन्होंने कहा यदि मैं झगड़े करती तो में कार्यक्रम जीत हासिल नहीं कर पाती। कार्यक्रम में मेरा मुश्किल से एकआध झगड़ा हुआ होगा। यह कार्यक्रम में आपको आगे बढ़ा सकता है लेकिन जीतने में मदद नहीं कर सकता। (भाषा)



और भी पढ़ें :