मनमोहन, सोनिया और राहुल होंगे स्टार प्रचारक

नई दिल्ली | भाषा| पुनः संशोधित शुक्रवार, 13 नवंबर 2009 (21:27 IST)
प्रधानमंत्री मनमोहनसिंह, कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गाँधी और महासचिव राहुल गाँधी के आगामी विधानसभा चुनाव प्रचार के दौरान पार्टी के होंगे।


सिंह, सोनिया और राहुल उन 40 पार्टी नेताओं में शामिल हैं, जिनके नामों को प्रचार के लिए अंतिम रूप दिया गया है। आदिवासी बहुल इस राज्य में पांच चरण में होने वाले चुनाव 25 नवंबर से शुरू हो रहे हैं।

ये स्टार प्रचारक किन-किन चुनाव क्षेत्रों में जाएँगे, इसका ब्यौरा हालाँकि अभी तैयार किया जाना बाकी है।

तीन स्टार प्रचारकों के अलावा केन्द्रीय मंत्री प्रणब मुखर्जी, मुकुल वासनिक, अंबिका सोनी, गुलामनबी आजाद, सुबोधकांत सहाय और विलासराव देशमुख भी राज्य का दौरा करेंगे।


दिल्ली की मुख्यमंत्री शीला दीक्षित और राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलौत भी कुछ चुनावी सभाओं को संबोधित करेंगे।
पार्टी ने क्रिकेटर से नेता बने अपने सांसद मुहम्मद अजहरूद्दीन को चुनाव प्रचार में लगाने का फैसला किया है।

कांग्रेस झारखंड में बाबूलाल मरांडी की झारखंड विकास मोर्चा के साथ गठजोड़ कर चुनाव मैदान में उतर रही है। दोनों दलों के बीच हुए समझौते मुताबिक मरांडी की पार्टी 19 सीटों पर और कांग्रेस 55 सीटों पर अपने उम्मीदवार उतारेगी, जबकि सात सीटों पर दोस्ताना संघर्ष होगा।
कांग्रेस सूत्रों ने बताया कि पार्टी राज्य में सत्ता में आने के लिए गंभीर प्रयास कर रही है। झारखंड के 2000 में गठन के बाद से अब तक कांग्रेस वहां सरकार नहीं बना पाई है।

झारखंड में अब तक भाजपा की दो सरकारें और कांग्रेस समर्थित दो गठजोड़ सरकारें बन चुकी हैं। इनमें से एक सरकार का नेतृत्व निर्दलीय मधु कोड़ा ने किया था, जो इस समय भ्रष्टाचार के आरोपों से घिरे हुए हैं।
राज्य में पहली सरकार बाबू लाल मरांडी के नेतृत्व में भाजपा ने बनाई थी। मरांडी अब झारखंड विकास मोर्चा के प्रमुख हैं, जिसने कांग्रेस के साथ इस बार के चुनाव के लिए गठजोड़ किया है। काग्रेस ने झामुमो और राजद से किनारा करते हुए विधानसभा चुनाव के लिए मरांडी की पार्टी से गठजोड़ किया है।

मई में हुए लोकसभा चुनाव में झामुमो कांग्रेस की साझेदार पार्टी थी। इस चुनाव में कांग्रेस 14 में से केवल एक सीट जीत सकी जबकि दो सीटें झामुमो को मिली थीं। मुकाबले में चौथी मुख्य पार्टी झामुमो होगी, जो भंग विधानसभा में दूसरी सबसे बड़ी पार्टी है।
कांग्रेस सूत्रों ने कहा कि झारखंड विकास मोर्चा के साथ गठजोड के साथ ही दोनों पार्टियाँ अब झामुमो की पकड़ वाले संथाल परगना में उसके वोटों में सेंध लगाएँगी। (भाषा)



और भी पढ़ें :