देश में पर्याप्त अनाज भंडार-मनमोहन

नई दिल्ली (भाषा)| भाषा|
हमें फॉलो करें
प्रधानमंत्री ने कहा है कि में विलंब और कम बारिश की वजह से देश आज ‘मुश्किल हालात’ का सामना कर रहा है, लेकिन देश के पास इस स्थिति से निपटने के लिए अनाज का पर्याप्त भंडार है। उन्होंने भरोसा दिलाया कि केंद्र इस स्थिति से निपटने के लिए मजबूत कदम उठाने से नहीं हिचकेगा और जरूरत पड़ने पर सरकार बाजार में भी हस्तक्षेप करेगी।


देश में मानसून की स्थिति पर शनिवार को राज्यों के मुख्य सचिवों के सम्मलेन को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि देश के विभिन्न हिस्सों में इस वजह से कृषि गतिविधियाँ प्रभावित हुई हैं, जिससे किसान संकट का सामना कर रहे हैं।

धान के बुवाई क्षेत्र में 60 लाख हेक्टेयर से ज्यादा की कमी आई है। धान की फसल सबसे बुरी तरह प्रभावित हुई है। पिछले दो सालों के दौरान हुई बंपर फसल के कारण सरकार इस स्थिति से निपटने के लिए तैयार है।

उन्होंने कहा हम सूखा प्रभावित क्षेत्रों में अनाज उपलब्ध कराने की स्थिति में हैं। हम कड़े कदम उठाने से हिचकिचाएँगे नहीं और जरूरत होने पर बाजार में भी हस्तक्षेप करेंगे। सम्मेलन में कृषि मंत्री शरद पवार भी मौजूद थे।


प्रधानमंत्री ने इस स्थिति से निपटने के लिए त्वरित, सामूहिक और प्रभावी कार्रवाई की जरूरत पर जोर देते हुए कहा कि केंद्र राज्यों को इस मोर्चे पर अतिरिक्त मदद मुहैया कराएगा।



और भी पढ़ें :