27 की उम्र के बाद पीजी नियमित नहीं

WD|
FILE
सत्र 2012-13 में प्रथम में 27 वर्ष से अधिक आयु के आवेदकों को प्रवेश नहीं मिलेगा। उच्च शिक्षा विभाग ने इस बार स्नातकोत्तर प्रथम सेमेस्टर में प्रवेश के इच्छुक आवेदकों को उम्र के बंधन में बांध दिया है। पिछले साल प्रवेश के लिए आयु सीमा का बंधन नहीं था।


उच्च शिक्षा विभाग ने सत्र 2012-13 के लिए जो प्रवेश नियम जारी किए हैं, उनमें आंशिक संशोधन किया गया है। सत्र 2011-12 में स्नातकोत्तर प्रथम सेमेस्टर में बतौर नियमित प्रवेश के लिए आयु बंधन में छूट प्रदान की गई थी, लेकिन इस बार इसमें आवेदकों को कोई राहत प्रदान नहीं की गई है। प्रदेश के सरकारी व निजी कॉलेजों में संचालित योग पाठ्यक्रम में प्रवेश के लिए आयु का बंधन नहीं होगा। साथ ही छात्राओं को भी आयु सीमा से छूट रहेगी, वहीं प्रथम सेमेस्टर में प्रवेश की आयु पूर्व की तरह 22 वर्ष तक निर्धारित की गई है। इससे अधिक आयु के आवेदक को नियमित प्रवेश नहीं मिलेगा।

अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति व अन्य पिछड़ा वर्ग के विद्यार्थियों को अधिकतम आयु सीमा में 3 साल की छूट प्रदान की जाएगी। साथ ही निःशक्तजन वर्ग के आवेदकों के लिए स्नातक कक्षाओं में प्रवेश की अधिकतम आयु सीमा 30' वर्ष तक निर्धारित की गई है। इनके अलावा प्राच्य पद्धति के संस्कृत महाविद्यालयों में पढ़ाए जाने वाले पाठ्यक्रम के प्रथम वर्ष में प्रवेश की अधिकतम आयु सीमा 25 वर्ष रखी गई है।



और भी पढ़ें :