मेडिकल कॉलेजों की सीटें होंगी दोगुनी

‍नई दिल्ली | WD|
FILE
के क्षेत्र में करियर बनाने के इच्छुक युवाओं के लिए अच्छी खबर है कि आने वाले वर्षों में सरकार मेडिकल कॉलेजों में दाखिले के लिए सीटें दोगुनी करने जा रही है। वर्ष 2021 तक सरकार की सीटें 80 हजार और स्नातकोत्तर की 45 हजार करने का लक्ष्य हासिल करना चाहती है।


स्वास्थ्य मंत्रालय के अधिकारियों का कहना है कि इसका मकसद दो हजार मरीजों पर एक डॉक्टर के वर्तमान अनुपात को बढ़ाकर हजार मरीजों पर एक डॉक्टर का अनुपात हासिल करना भी है। स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय ने 2021 तक एमबीबीएस पाठ्यक्रम में 38 हजार 431 और स्नातकोत्तर में 22 हजार 806 सीटें जोड़ने का लक्ष्य रखा है।

स्वास्‍थ्य मामलों पर संसदीय सलाहकार समिति की सोमवार को हुई बैठक में अधिकारियों ने यह जानकारी दी। स्वास्थ्य मंत्री गुलामनबी आजाद की अध्यक्षता में यह बैठक देश में चिकित्सा क्षेत्र की आधारभूत संरचना की स्थिति पर विचार-विमर्श करने के लिए आयोजित की गई थी।

मध्यभारत में सीटों का टोटा : अभी देश के 335 मेडिकल कॉलेजों में एमबीबीएस की 41 हजार 569 और स्नातकोत्तर की 22 हजार 194 सीटें हैं। अधिकतर और सीटें ‍दक्षिण और पश्चिमी राज्यों में हैं, जहां मध्यप्रदेश और छत्तीसगढ़ जैसे मध्यभारत के राज्यों को नाममात्र की सुविधा मिल रही है।

मंत्रालय के ताजा आंकड़ों के अनुसार 66 प्रतिशत मेडिकल कॉलेज और 69 प्रतिशत एमबीबीएस सीटें केरल, कर्नाटक, आंध्रप्रदेश, तमिलनाडु, महाराष्ट्र, गुजरात, राजस्थान और गोआ में हैं।


सम्बंधित जानकारी


और भी पढ़ें :