फिर बढ़ सकते हैं कच्चे तेल के दाम-देवड़ा

नई दिल्ली| वार्ता|
हमें फॉलो करें
FILE
पेट्रोलियम एवं प्राकृतिक गैस मंत्री मुरली देवड़ा ने आम आदमी को पेट्रोलियम उत्पादों की निर्बाध आपूर्ति बनाए रखने का आश्वासन देते हुए कहा है कि विश्व अर्थव्यवस्था के मंदी से उबरने के साथ ही में एक बार फिर कच्चे तेल के दाम बढ़ने की आशंका है।


आर्थिक संपादकों के सम्मेलन को संबोधित करते हुए देवड़ा ने कहा कि इस साल जनवरी में कच्चे तेल का दाम 44 डॉलर से बढ़ते हुए अक्टूबर 2009 तक 76 डॉलर प्रति बैरल तक पहुँच चुका है।

विश्व अर्थव्यवस्था में पिछले दो साल से जारी मंदी अब छँटने लगी है और पेट्रोलियम उत्पादों की माँग भी धीरे-धीरे बढ़ने लगी है। इसे देखते हुए कच्चे तेल के दाम फिर बढ़ने की आशंका है। हालाँकि सरकार हर परिस्थिति में संवेदनशीन पेट्रोलियम उत्पादों की निर्बाध आपूर्ति बनाए रखने के लिए प्रतिबद्ध है।

देवड़ा ने वर्ष 2009-10 को कच्चे तेल और गैस के अतिरिक्त उत्पादन के लिहाज से महत्वपूर्ण बताते हुए कहा कि इस साल कच्चे तेल में 11 प्रतिशत और प्राकृतिक गैस उत्पादन में 52 प्रतिशत वृद्धि का अनुमान है।


उन्होंने कहा कि इस साल अब तक सार्वजनिक क्षेत्र की कंपनी ओएनजीसी, ऑइल इंडिया और निजी एवं संयुक्त उद्यम कंपनियों ने कुल मिलाकर तेल एवं गैस की 15 नई खोज की हैं। इससे देश में पेट्रोलियम पदार्थों की उपलब्धता बढ़ेगी।
उन्होंने कहा कि चालू वित्त वर्ष 2009-10 में कच्चे तेल का उत्पादन पिछले साल के मुकाबले 11 प्रतिशत बढ़कर तीन करोड़ 67 लाख टन तक पहुँच जाने का अनुमान है। इसी तरह इस वित्त वर्ष में प्राकृतिक गैस का उत्पादन 52.6 प्रतिशत बढ़कर 50 अरब 21 करोड़ घनमीटर तक पहुँच जाएगा। इस लिहाज से यह साल काफी महत्वपूर्ण बन गया है। (वार्ता)



और भी पढ़ें :