रुपए में गिरावट से घबराएं नहीं- चिदंबरम

नई दिल्ली| भाषा| पुनः संशोधित शुक्रवार, 21 जून 2013 (17:11 IST)
हमें फॉलो करें
FILE
नई दिल्ली। विदेशी विनिमय बाजार में रुपए की हाल की जोरदार गिरावट पर नाखुशी जताते हुए वित्तमंत्री पी. चिदंबरम ने शुक्रवार को कहा कि इससे घबराने की कोई जरूरत नहीं है, भारतीय रिजर्व बैंक जरूरी कदम उठाएगा।


वित्तमंत्री ने रुपए में गिरावट के बारे में यहां कहा कि स्थिति पर हमारी निगाह है। रिजर्व बैंक जो भी जरूरी होगा, कदम उठाएगा। हमारे पास अच्छे आर्थिक सलाहकार हैं। जो भी किया जाना चाहिए, हम करेंगे। मेरा आपसे अनुरोध है कि आप घबराहट में कोई प्रतिक्रिया न दें, यह दुनियाभर में हो रहा है।

शुक्रवार को कारोबार के दौरान रुपया अपने सर्वकालिक निचले स्तर 59.98 प्रति डॉलर पर आ गया था। बताया जाता है कि रुपए में गिरावट पर अंकुश के लिए रिजर्व बैंक ने हस्तक्षेप किया।

वित्तमंत्री ने इस बात को माना कि अन्य देशों में जो हो रहा है भारत उससे बचा हुआ नहीं है। हम खुश नहीं हैं, जो हो रहा है उससे हम नाखुश हैं।


चिदंबरम ने कहा कि अमेरिकी फेडरल रिजर्व की कुछ घोषणाओं की वजह से दुनियाभर में मुद्राओं पर यह असर पड़ा है। फेडरल रिजर्व के चेयरमैन बेन बर्नान्के ने कहा है कि अमेरिका में मौद्रिक प्रोत्साहन कार्यक्रम को आगे इसी साल कम करना शुरू कर दिया जाएगा।
माना जा रहा है कि इसी बयान से भारत सहित अन्य उभरती अर्थव्यवस्थाओं के पूंजी बाजार में गिरावट हो रही है और मुद्राएं दबाव में हैं। वित्तमंत्री ने कहा कि दुनियाभर के बाजारों में इस तरह की प्रतिक्रिया की क्या जरूरत है। जो भी पैसा उभरते बाजारों से निकाला जा रहा है, उसे कहीं तो लगाया जाएगा।

चिदंबरम ने कहा कि अमेरिकी फेडरल रिजर्व के प्रमुख के बयान को बाजार ठीक से समझ नहीं पाए। वित्तमंत्री ने कहा कि मेरा विचार है कि बर्नान्के के बयान को एक महीने पहले भी ठीक से नहीं समझा गया था। गुरुवार के बयान को भी ठीक से नहीं समझा गया। (भाषा)



और भी पढ़ें :