कंपनियों ने दिया 1.75 लाख करोड़ का कर

नई दिल्ली (भाषा)| भाषा|
हमें फॉलो करें
ने 2007-08 के वित्त वर्ष के दौरान 175428 करोड़ रुपए के रूप में अदा किए। इसमें कार्पोरेट टैक्स और वेतनेत्तर कर (एफबीटी) भी शामिल है।


के कर अदायगी का आकलन करने के लिए 410451 कंपनियों (कुल आय 479898 करोड़ रुपए) के 2007-08 के आँकड़ों का 2009-10 के बजट में विश्लेषण किया गया है।

बजट दस्तावेज के अनुसार इन कंपनियों ने 2007-08 के वित्त वर्ष में 158225 करोड़ रुपए का कार्पोरेट (अधिभार और शिक्षा उपकर शामिल) कर दिया। दस्तावेज के अनुसार इन कंपनियों ने एफबीटी के रूप में 6533 करोड़ रुपए और 10670 करोड़ रुपए लाभांश वितरण कर के रूप में अदा किए। समीक्षागत वित्त वर्ष में उद्योग जगत का कर खर्च 175428 करोड़ रुपए बैठता है।

इन कंपनियों ने 2007-08 के दौरान 711557 करोड़ रुपए का कर पूर्व मुनाफा कमाया। इसमें घाटा उठाने वाली कंपनियाँ शामिल नहीं हैं।


बजट दस्तावेज में कहा गया है कि यह बात सामने आई है कि सार्वजनिक क्षेत्र की कंपनियाँ निजी क्षेत्र की कंपनियों की तुलना में अपने मुनाफे का काफी बड़ा हिस्सा कर के रूप में जमा कराती हैं।
बजट 2009-10 में 1808 सार्वजनिक क्षेत्र की कंपनियों और 407765 निजी क्षेत्र की कंपनियों के आँकड़ों का विश्लेषण किया गया है। विश्लेषण के अनुसार कंपनियों के कुल कर योगदान में निजी कंपनियों की हिस्सेदारी 75.06 प्रतिशत और सरकारी कंपनियों की 24.94 फीसद रही।



और भी पढ़ें :