भाषा विज्ञान में करियर संभावनाएं

FILE

मानव की तरक्की में भाषा के योगदान को शब्दों में व्यक्त करना कठिन है। होते विश्व में विभिन्न भाषाओं के परस्पर संपर्क से बेहतरीन के रूप में उभरा है। युवा साथी इसे अपना कर शानदार भविष्य की ओर कदम बढ़ा सकते हैं।


युवा साथियों के लिए भाषा विज्ञान बेहतरीन करियर का विकल्प हो सकता है। जिस तरह से दुनिया छोटी होती जा रही है उससे यह साफ है कि अब विभिन्न देशों में आपसी व्यापार के संबंध हो या अन्य संबंध जब तक भाषाओं को समझा नहीं जाएगा, तब तक एक दूसरे की संस्कृति को समझना मुश्किल है।
भाषा विज्ञान ऐसा क्षेत्र है जो अपने आपमें काफी वृहद और अनोखा है। इसमें भाषा के माध्यम से आप किसी भी प्रांत प्रदेश और देश के बारे में जानकारी प्राप्त करते हैं। भाषाओं की जानकारी आपको विभिन्न देशों के राजनैतिक और सांस्कृतिक अध्ययन के लिए काफी महत्वपूर्ण साबित हो सकती है।

FILE
क्या है भाषा विज्ञान :- भाषा विज्ञान भाषा के अध्ययन की वह शाखा है जिसमें उसकी उत्पत्ति, स्वरूप, विकास आदि का वैज्ञानिक एवं विश्लेषणात्मक अध्ययन किया जाता है। विषय-विभाजन की दृष्टि से इसे भाषा-संरचना एवं अर्थ का अध्ययन में बांटा जाता है। भाषा विज्ञान के अध्ययेता भाषा विज्ञानी कहलाते हैं। इसमें भाषा का वैज्ञानिक दृष्टिकोण से विश्लेषण और वर्णन करने के साथ ही विभिन्न भाषाओं के बीच तुलनात्मक अध्ययन भी किया जाता है।
भाषा विज्ञान के दो पक्ष : भाषा विज्ञान के दो पक्ष हैं- तात्विक और व्यावहारिक। तात्विक भाषा विज्ञान में भाषा का ध्वनि सम्भार (स्वर विज्ञान और ध्वनि विज्ञान (फोनेटिक्स), व्याकरण (वाक्यविन्यास व आकृति विज्ञान) एवं शब्दार्थ (अर्थ विज्ञान) का अध्ययन किया जाता है।

व्यावहारिक भाषा विज्ञान में अनुवाद, भाषा शिक्षण, इत्यादि आते हैं। इसके अतिरिक्त भाषा विज्ञान का ज्ञान-विज्ञान की अन्य शाखाओं के साथ गहरा संबंध है। इससे समाज भाषा विज्ञान, मनोभाषा विज्ञान, गणना मूलक भाषा विज्ञान आदि इसकी विभिन्न शाखाओं का विकास हुआ है। व्यावहारिक भाषा विज्ञान में अनुवाद, भाषा शिक्षण इत्यादि आते हैं।
दुनिया भर में हजारों भाषाएं बोली जाती हैं, जिसका स्वरूप ध्वनियों पर आधारित होता है। व्याकरण तथा लिपि की विविधता ने भी भाषा को अनेक स्वरूप प्रदान किए हैं। इसके अंतर्गत ध्वनि, उच्चारण का अध्ययन, अनुवाद कार्य शामिल हैं।

इन क्षेत्रों में रहती है मांग : भाषा विज्ञान के क्षेत्र में फिलोलॉजिस्ट लिंग्विस्ट, (दुभाषिया), अनुवादक (स्क्रिप्टोलॉजी), कम्प्यूटरीकरण, गणितीय भाषा, अनुप्रयोग भाषा विज्ञान, डाइलेक्टोलॉजी, इपिग्राफर के क्षेत्र में अवसर तथा संभावनाएं हैं। पर्याप्त उद्योग के बढ़ते स्वरूप ने भी भाषा विज्ञान के क्षेत्र में ढेर सारे अवसर उपलब्ध कराए हैं। कुल मिलाकर भाषा विज्ञान का क्षेत्र रोजगार के कई अवसर देता है साथ ही यह काफी रोचक क्षेत्र भी है।
यहां से कर सकते हैं कोर्स :
- अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी, अलीगढ़, उत्तरप्रदेश
- जवाहरलाल नेहरू यूनिवर्सिटी, नई दिल्ली
- अन्नामलाई यूनिवर्सिटी, तमिलनाडु
- यूनिवर्सिटी ऑफ केरल, केरल
- ओस्मानिया यूनिवर्सिटी, हैदराबाद, आंध्रप्रदेश



और भी पढ़ें :