आर्ट्‍स विषय में कैरियर संभावनाएं

- सुधीर शर्मा

FILE

अक्सर छोटी उम्र में छात्र ‍विषय का चयन कर लेते हैं लेकिन 12वीं के बाद उनके मन में ये सवाल उमड़ते हैं कि इस विषय से संबंधित किस क्षेत्र में उनके लिए ज्यादा स्कोप है। कई बार जानकारी के अभाव में वे गलत दिशा में आगे बढ़ जाते हैं। आपके मन में भी अगर ऐसे ही सवाल हैं तब आइए जानते हैं करियर काउंसलर ‍सचिन भटनागर से कि आर्ट्‍स विषय पढ़ने वाले युवा 12वीं के बाद किन क्षेत्रों में करियर बना सकते हैं।


सचिन भटनागर के अनुसार 'जो भी युवा आर्ट्‍स विषय लेते उन्हें सबसे पहले यह कोशिश करना चाहिए किसी अच्छे कॉलेज से बैचलर डिग्री पूरी करें। आर्ट्‍स में भी अगर लैंग्वेजेस पर अच्छी कमांड हो तो और किसी विषय में विशेषज्ञता के साथ डिग्री कोर्स करते हैं तो करियर के अच्‍छे अवसर होते हैं। बीए करने के बाद एमए साइकोलॉजी कर लें तो साइकोलॉजिस्ट बना जा सकता है।

शिक्षा, कॉर्पोरेट, मेडिकल जैसे क्षेत्रों में साइकोलॉजिस्ट की काफी मांग रहती है। बीए के बाद एमए इन सोशलॉजी किया जा सकता है। इसे करने के बाद एनजीओ, सामाजिक संगठनों में अवसर उपलब्ध रहते हैं। शिक्षा के क्षेत्र में भी प्रोफेसर के तौर पर करियर बनाया जा सकता है। एंथ्रोपोलॉजी (मानव विज्ञान) में भी युवाओं के लिए करियर का एक अच्‍छा ऑप्शन है।

FILE
हमारे यहां भौतिक पुरातत्व की धरोहरों आदि को सुरक्षित रखने लिए अच्छे ऑर्कोलॉजिस्ट की देश में मांग है। ऑर्कोलॉजी के कोर्स भी कई अच्‍छी यूनिवर्सिटीज करवाती हैं। एम इन ऑर्कोलॉजी भी करियर का अच्छा विकल्प हो सकता है।
इकोनॉमिक्स (अर्थशास्त्र) में भी करियर बनाया जा सकता है। भारत में बढ़ते निवेश के कारण वित्तीय क्षेत्र भी बढ़ रहा है। इन क्षेत्रों में अर्थशास्‍त्रियों की अच्छी मांग है। इस क्षेत्र में भी करियर की असीम संभावनाएं हैं।

सिविल सर्विसेस, जर्नलिज्म आदि क्षेत्रों में भी आर्ट्‍स के विषय की पढ़ाई कर जाया जा सकता है। आर्ट्‍स विषय से शिक्षा के क्षेत्र में भी करियर बनाया जा सकता है। फॉरेन लैंग्वेज का अगर कोर्स कर लिया जाए हमारे तेजी से फलफूल रहे ट्रेवल एंड टूरिज्म विभाग में भी रोजगार की संभावनाएं होती हैं।
अगर युवा हिन्दी या अंग्रेजी किसी भाषा पर अच्‍छी पकड़ रखते हैं तो अनुवादक (ट्रांसलेटर्स) के रूप में करियर बनाया जा सकता है। आर्ट्‍स विषय के युवा में लाइब्रेरी या इंर्फोमेशन साइंस के कोर्सेस भी कर सकते हैं।

करियर के विकल्प तमाम हैं बस आवश्यकता इस बात है कि युवाओं को इसकी जानकारी हो। उन्हें पता हो कि उनके लिए क्या बेहतर है। निश्चित रूप से हमारे यहां करियर रिर्सोस उपलब्ध हैं जिनका उपयोग हमारे युवाओं को करना है।'
यहां से कर सकते हैं कोर्स :-
- सेंट स्टीफन कॉलेज, दिल्ली
- सेंट जेवियर कॉलेज, मुंबई
- प्रेसीडेंसी कॉलेज, कोलकाता
- सेंट लोयोला कॉलेज, चेन्नई
- मिरांडा हाऊस, दिल्ली

इन प्रमुख संस्थानों के अलावा भी देश में बहु‍त से ऐसे संस्थान हैं जहां आसानी से दाखिला लिया जा सकता है लेकिन इस बात का ध्यान जरूर रखें कि वह एक प्रतिष्ठित संस्थान हो।



और भी पढ़ें :