इराक में सरकार के खिलाफ जनता सड़कों पर

फलुजा| वार्ता|
हमें फॉलो करें
अरब जगत में जारी विद्रोह की लहर में मंगलवार को एक नया नाम भी जुड़ गया जब इराकी नागरिकों ने भ्रष्टाचार और नौकरियों में कमी होने के कारण देशभर में विरोध प्रदर्शन किए।


उत्तर के तेल प्रचुर शहर किरकुक में लगभग सौ लोगों ने एक प्रांतीय परिषद की इमारत के पास प्रदर्शन किया। वहीं तेल के लिए प्रसिद्ध दक्षिण के बसरा शहर में भी 200 लोगों ने रैली निकालकर प्रदर्शन किया। प्रदर्शन के दौरान फलुजा में एक व्यक्ति ने खुद को आग लगाने की भी कोशिश की लेकिन दूसरे प्रदर्शनकारियों ने उसे रोक दिया।

एक प्रदर्शनकारी ने इस दौरान कहा 'हमारे भ्रष्ट नेताओं का अंत भी मिस्र के होस्नी मुबारक और टयूनीशिया के जिने अल आबिदीन बेन अली की तरह होगा। एक अन्य प्रदर्शनकारी ने कहा 'यह युवाओं का समय है और हम भ्रष्टाचार एवं अवमानना जैसे मुद्‍दों पर शांत बैठने वाले नहीं हैं।

देश के प्रधानमंत्री नूरी अल मलिकी ने सोमवार को कहा था 'हम मानते हैं कि देश में नौकरियों की कमी है। हम कोई सफाई नहीं दे रहे पर यह स्पष्ट कर देना चाहते हैं कि इसके लिए देश के पास पर्याप्त धन की कमी है।'


लेकिन यह आर्थिक मंदी के हालात भी अगले वर्ष समाप्त हो जाएँगे जब हमारा तेल उत्पादन दोगुना हो जाएगा और इसका लाभ हमें बाकी क्षेत्रों मे भी मिलेगा।
अमेरिकी आक्रमण के आठ वर्षों के बाद भी इराक में हालात जस के तस हैं जिसके कारण यहाँ आम जनता में गुस्सा बढ़ रहा है लेकिन इराक में हुए प्रदर्शन बिखरे-बिखरे थे और उनमें अरब जगत के दूसरे हिस्सों में हो रहे प्रदर्शनों जैसा दमखम नहीं था। (वार्ता)



और भी पढ़ें :