स्काटलैंड के पर्यटन को भारतीय सहारा

लंदन (भाषा) | भाषा| पुनः संशोधित बुधवार, 8 जुलाई 2009 (14:36 IST)
हमें फॉलो करें
विश्व भर में फैली मंदी के बाद भी स्काटलैंड के पर्यटन उद्योग को कोई खास असर नहीं पड़ रहा। जानकारों का मानना है कि भारतीय पर्यटकों के चलते देश का पर्यटन उद्योग अब भी फल फूल रहा है।


उद्योग से जुड़े सूत्रों के अनुसार अवकाश के दिनों में काफी व्यस्त रहने के लिए पूरी तरह तैयार है। भारतीयों के लिए स्काटलैंड स्काच व्हिस्की का गढ़ होने के कारण आकर्षण का बहुत बड़ा केंद्र है।
दूसरी ओर स्काटलैंड में पिछले एक दशक के दौरान 10 से भी ज्यादा भारतीय फिल्मों की शूटिंग हो चुकी है, जिनमें तमिल फिल्म ‘कांदूकोंदाइन कांदूकोंदाइन’ और देव आनंद की ‘मैं सोलह बरस की’ प्रमुख हैं।


टूर आपरेटरों का मानना है कि व्हाइट एंड मैकाय व्हिस्की को भारतीय शराब विक्रेता विजय माल्या के खरीदने के चलते भारतीय पर्यटकों की संख्या में काफी इजाफा हुआ है। माल्या ने इसे 2007 में खरीदा था।

लाचनेस मार्केटिंग के प्रवक्ता विली कैमरून ने कहा कि वे पिछले कुछ दिनों से भारतीय पर्यटकों की संख्या में पर्याप्त इजाफा दर्ज कर रहे हैं।



और भी पढ़ें :