ये हैं नरेन्द्र मोदी के खास सिपहसालार

अमेरिका में पढ़ाई करने वाले 30 साल के प्रशांत किशोर दो साल से मोदी के साथ सीएमओ में हैं। संयुक्त राष्ट्र में नौकरी करने के बाद टीम मोदी में शामिल होने के बाद किशोर ने अमेरिका के चुनावों की तर्ज पर पूरे चुनाव कैंपेन को चलाया। उन्होंने आईआईटी नौकरी छोड़ चुके कई युवाओं को टीम मोदी में शामिल करवाया।


प्रशांत किशोर ने प्रचार समिति बनाई। इसका नाम सेंटर फॉर अकाउंटेबल गवर्नेंस को बनाया। इनका काम प्रचार के नारे और रणनीति तय करना था। किशोर थिंक टैंक की भूमिका निभाते हुए मोदी को विभिन्न विषयों पर सलाह भी देते हैं। मोदी अपनी टीम का समान प्रयोग बीजेपी चैनल के लिए भी करते हैं।
आगे क्या भूमिका : प्रशांत किशोर मोदी के प्रधानमंत्री बनने के बाद पीएमओ में शामिल होकर मुख्य रणनीतिकार की भूमिका में दिख सकते हैं एक नया मोदी ब्रांड बनाने के लिए।

अगले पन्ने पर कौन है मोदी की तकनीकी तिकड़ी...




और भी पढ़ें :