रोहित शेट्टी : न भाग्य के भरोसे न अजय के...!

रोहित शेट्टी
ND|
PR
'गोलमाल' सीरिज से लोकप्रिय हुए निर्देशक रोहित शेट्टी ने कॉमेडी फिल्मों के बाद एक्शन फिल्म 'सिंघम' में भी अपनी साख को बनाए रखा है। अब रोहित की आने वाली फिल्म 'बोल बच्चन' में एक्शन और कॉमेडी दोनों का तड़का एक साथ होगा।


एक्शन... रोमांस... कॉमेडी... गाने... यानी वो पूरे मसाले जो किसी फिल्म को बॉक्स ऑफिस पर हिट कराने के लिए जरूरी होते हैं, उन सबका इस्तेमाल रोहित अपनी फिल्मों में करते हैं। उड़ती हुई कारों के दृश्य तो मानो रोहित शेट्टी की फिल्मों की पहचान ही बन गए हैं। उनके साथ काम करने वालों को यह अच्छी तरह याद हो गया है कि कारों के दृश्य किस तरह फिल्माने हैं। अब तो लोग उनकी फिल्म रिलीज होने के पहले उनसे पूछते हैं कि 'इस फिल्म में गाड़ियाँ हैं ना?'
दरअसल रोहित अपनी फिल्मों की प्रेरणा 60-70 के दशक में बनी फिल्मों से ही लेते हैं। वे खुद यह बात स्वीकार करते हैं कि उस दौर की फिल्मों को मैं नए प्रेजेन्टेशन के साथ बना रहा हंँू और यही आज की जनरेशन की पसंद है।

रोहित की फिल्में भले ही 'माइंडलेस सिनेमा' की श्रेणी में आती हों, लेकिन व्यावसायिक तौर पर सफल रहती हैं और इसके लिए रोहित को खुद पर बड़ा नाज भी है। वे यह स्वीकारते हैं कि अब बहुत से युवा निर्देशक अच्छा काम कर रहे हैं। साथ ही यह भी कि उनमें से किसी की फिल्में उतनी बड़ी कमर्शियल हिट नहीं रही हैं, जितनी स्वयं रोहित की! 'गोलमाल', 'रिटर्न्स', 'ऑल द बेस्ट : फन बिगिन्स', 'गोलमाल 3', 'सिंघम' सभी बॉक्स ऑफिस पर सफल रही हैं।

रोहित शेट्टी का लगातार सफल कॉमेडी के बाद ट्रेक बदलकर 'सिंघम' जैसी एक्शन फिल्म बनाना उनके दर्शकों के लिए चौंकाने वाली बात थी। रोहित का कहना है कि 'गोलमाल सीरिज' से पहचान मिलने के बाद मुझे लगा कि दर्शकों को फिर एक कॉमेडी फिल्म दिखाना उनके साथ चीटिंग होगी। उसी दौरान मैंने 'सिंघम' (तमिल में) देखी और सोचा कि मुझे यह हिन्दी में बनाना चाहिए। मैंने से बात की और वे भी इसके लिए तैयार हो गए। हमने 'सिंघम' के लिए काम शुरू कर दिया और वह सफल भी रही।
रोहित बताते हैं,'सिंघम के निर्माण के दौरान मैंने कितनी ही रातें बिना सोए गुजारी हैं। मैंने इस फिल्म के लिए काफी मेहनत की है। दरअसल मैं यह साबित करना चाहता था कि मैं सिर्फ भाग्य के भरोसे ही नहीं चल रहा हूँ। कुछ लोगों ने मेरी फिल्मों की सफलता को दिवाली के समय रिलीज होने से भी जोड़ा, लेकिन सिंघम न तो दिवाली के समय रीलिज हुई और न ही कॉमेडी फिल्म थी।'
रोहित की अब तक की सभी फिल्मों में अजय देवगन ने काम किया है और दोनों के लिए यह फायदेमंद रहा है। हम दोनों के पिता एक्शन डायरेक्टर रहे हैं। वे हमारे परिवार के सदस्य की ही तरह हैं। मेरी पहली फिल्म 'जमीन' के फ्लॉप होने के बाद लोगों ने मुझसे फोन पर बात करना तक बंद कर दिया था, लेकिन उस कठिन समय में सिर्फ अजय ने ही मेरा साथ दिया और इसीलिए मैं 'गोलमाल' बना सका।
ऐसा नहीं है कि रोहित हमेशा अजय के साथ ही फिल्में बनाते रहेंगे। 'बोल बच्चन' के बाद रोहित, अजय का साथ छोड़ने जा रहे हैं और वे इसे बड़ी स्वाभाविक-सी प्रक्रिया मानते हैं। वे बताते हैं कि 'गोलमाल 3' के रिलीज होने के बाद शाहरुख ने खुद मुझे कॉल किया और मुलाकात के बाद हमने साथ काम करना तय किया। अब हम 'चेन्नाई एक्सप्रेस' में साथ काम करेंगे। यह भी रोमांटिक एंगल के साथ बिलकुल कमर्शियल फिल्म होगी।
अब देखने वाली बाद होगी कि शाहरुख के साथ रोहित की फिल्में बॉक्स ऑफिस पर क्या गुल खिलाती हैं!

- अवधेश गोयल




और भी पढ़ें :