अकबर-बीरबल के रोचक और मजेदार किस्से : मूर्खों की फेहरिस्त

FILE


बादशाह को चूंकि घोड़े बहुत पसंद आए थे, सो वैसे ही सौ और घोड़े लेने का तुरंत मन बना लिया।

बादशाह ने अपने खजांची को बुलाकर व्यापारी को आधी रकम अदा करने को कहा।
खजांची उस व्यापारी को लेकर खजाने की ओर चल दिया। लेकिन किसी को भी यह उचित नहीं लगा कि बादशाह ने एक अनजान व्यापारी को इतनी बड़ी रकम बतौर पेशगी दे दी। लेकिन विरोध जताने की हिम्मत किसी के पास न थी।

WD|
सभी चाहते थे कि बीरबल यह मामला उठाए।

घोड़े के सौदे से नाखुश बीरबल ने क्या किया...




और भी पढ़ें :