0

सूर्य चालीसा का पाठ : सूर्य उपासना का सबसे शुभ,असरकारी और सरल उपाय

रविवार,अक्टूबर 17, 2021
0
1
देवी दुर्गा कवच का पाठ हिंदी में प्रस्तुत है...इस पाठ से शरीर के समस्त अंगों की रक्षा होती है, यह पाठ महामारी से बचाव की शक्ति देता है,यह पाठ सम्पूर्ण आरोग्य का शुभ वरदान देता है...यह अत्यंत गोपनीय पाठ है इसे पूरी पवित्रता से किया जाना चाहिए...
1
2
स्कंद कुमार कार्तिकेय की माता देवी स्कंदमाता की उपासना नवरात्रि के पांचवें दिन की जाती है। आइए पढ़ें आरती...
2
3
शारदीय नवरात्रि पर्व में मां अम्बे की आराधना की जाती है। यहां पढ़ें Durga Ji Ki Aarti-
3
4
नवरात्रि के पावन पर्व पर 9 दिन दुर्गा चालीसा के नित्य पाठ से मां दुर्गा प्रसन्न होती हैं और हर तरह के संकट दूर करती है।
4
4
5
यह आरती करने से श्री हरि विष्णु प्रसन्न होकर खुशहाल जीवन का आशीर्वाद देते हैं। यहां पढ़ें ॐ जय जगदीश हरे, स्वामी! जय जगदीश हरे...
5
6
महालक्ष्मी व्रत पूजा के समय पढ़ें धन की देवी महालक्ष्मी जी की आरती और उनके पौराणिक मंत्र- ॐ जय लक्ष्मी माता, मैया जय लक्ष्मी माता । तुमको निस दिन सेवत हर-विष्णु-धाता ॥ॐ जय...
6
7
धार्मिक शास्त्रों में किसी भी खास अवसर पर धन की देवी लक्ष्मी पूजन करने का बहुत महत्व माना गया है। इस दिन माता लक्ष्मी का यह चालीसा जीवन को खुशहाली से भरकर मनचाहा आशीर्वाद देता है
7
8
श्राद्ध पक्ष के दिनों में प्रतिदिन इस कवच का पाठ करके आप अपने पितरों को प्रसन्न करके उनका आशी‍ष पा सकते हैं। यह कवच बहुत ही लाभदायक माना गया है।
8
8
9
अभी पितृ पक्ष चल रहा है। श्राद्ध पक्ष के ये 16 दिन विशेष मंगलकारी माने गए हैं। इन दिनों में सायंकाल के समय पितृ देवता की फोटो के समक्ष तेल का दीया जलाकर पितृ-सूक्तम् का चमत्कारी पाठ करने से
9
10
यह आरती करने से श्री हरि विष्णु प्रसन्न होकर खुशहाल जीवन का आशीर्वाद देते हैं। यहां पढ़ें ॐ जय जगदीश हरे, स्वामी! जय जगदीश हरे...
10
11
अगर आप भी जीवन में सफलता, खुशी, संतान, नौकरी, यश, सुख, समृद्धि, धन-वैभव, पराक्रम, प्रेम जैसे 10 बड़े आशीष पाने हैं तो डोल ग्यारस पर अवश्य पढ़ें श्री कृष्ण चालीसा...
11
12
आरती राधाजी की कीजै। कृष्ण संग जो कर निवासा, कृष्ण करे जिन पर विश्वासा। आरती वृषभानु लली की कीजै। आरती...कृष्णचन्द्र की करी सहाई, मुंह में आनि रूप दिखाई।
12
13
भगवान श्री गणेश की पूजा के बिना हिंदू धर्म में कोई भी पूजा पूरी नहीं मानी जाती। अत: खास कर बुधवार के दिन इन आरतियों से करें भगवान श्री गणेश को प्रसन्न। यहां आपके लिए प्रस्तुत हैं गणेश जी की 3 विशेष आरतियां...
13
14
श्री गणेश चालीसा- जय गणपति सद्गुण सदन कविवर बदन कृपाल। विघ्न हरण मंगल करण जय जय गिरिजालाल॥
14
15
तीज के दिन इस चालीसा का पाठ अवश्य करना चाहिए। माता पार्वती बहुत दयालु हैं, उनकी सच्चे मन से आराधना करने से वे हमारी गलतियों को तुरंत माफ कर देती हैं। उनकी प्रिय चालीसा हमें जीवन में नित नई ऊंचाइयों पर ले जाती है। यहां पढ़ें श्री पार्वती चालीसा का ...
15
16
जय पार्वती माता जय पार्वती माता, ब्रह्म सनातन देवी शुभ फल कदा दाता। जय पार्वती माता जय पार्वती माता। अरिकुल पद्मा विनासनी जय सेवक त्राता
16
17
श्री गणेश द्वादश नाम स्तोत्रम् में भगवान श्री गणेश के 12 नामों का वर्णन किया हैं। इन नामों का पाठ करने से मनुष्य के जीवन सबकुछ मंगल ही मंगल होने लगता है।
17
18
आरती कुंजबिहारी की श्री गिरिधर कृष्ण मुरारी की। गले में बैजन्तीमाला बजावैं मुरलि मधुर बाला॥
18
19
जन्माष्टमी के दिन अवश्य पढ़ें श्री कृष्ण चालीसा, मिलेंगे यश, सुख, समृद्धि, धन-वैभव, पराक्रम, सफलता, खुशी, संतान, नौकरी, प्रेम जैसे 10 बड़े आशीष...
19