0

क्‍या बारिश में आपके भी तौलिए से बदबू आती है? जानिए कैसे दूर करें

सोमवार,जुलाई 26, 2021
0
1
रिश्तों में स्पष्ट संचार और वार्तलाप बेहद आवश्यक है, मस्ती-मजाक, रूठना-मनाना भी रिश्तों को मजबूती देता है, एक-दूसरे को समय देना और एक-दूसरे की निजता का भी सम्मान करना ज़रूरी है... लेकिन क्या इसकी आड़ में हर बात पर ‘अबोला’ सही है?
1
2
कैस्‍टर ऑयल यानी अरंडी का तेल, यह एक प्राकृतिक ऑयल है। इसका प्रयोग आज से नहीं सालों से किया जा रहा है। दादी,नानी के वक्‍त में इस प्रकार के प्राक़तिक तेलों का प्रयोग ही बालों को हष्‍ट पुष्‍ट बनाने के लिए किया जाता था। औषधियों से भरपूर अरंडी का तेल ...
2
3
26 जुलाई से सावन सोमवार शुरू होने जा रहे हैं। कई सारे शिव भक्‍त महीनेभर तक सावन सोमवार करते हैं। लेकिन कोरोना के प्रकोप के बीच भक्ति के साथ सेहत का ख्‍याल रखना भी जरूरी है। फलाहार खाने पर इम्‍यून सिस्‍टम पर भी फर्क पड़ता है। क्‍योंकि बहुत सीमित में ...
3
4
बारिश में माटी की सौंधी सुगंध सभी के मन को भाती है। मिट्टी ना सिर्फ मन को सुवासित करती है बल्कि इसके बर्तन, खिलौने और सामग्री अगर घर में लाकर रखी जाए तो जिंदगी भी महक सकती है।
4
4
5
काजल लगाने से सुंदरता में चार चांद लग जाते है। लेकिन अगर वह फैल जाए तो चेहरा पूरा बदसूरत हो जाता है। लड़कियों को हमेशा एक शिकायत रहती है। काजल कोई से भी ब्रांड का क्‍यों नहीं हो वह हमेशा फैल जाता है। फिर चाहे बरसात हो, ठंड हो या गर्मी हो। इतना ही ...
5
6
बिजी लाइफ के दौरान त्वचा का ख्याल नहीं रख पाते हैं। लेकिन जब कहीं जाना होता है तब हमें अपनी स्किन का ख्याल आता है, पर उस वक्त कोई उपाय नहीं सूझता है और बेकार मूड से फंक्शन में जाना पड़ता है। कोई बात नहीं अब भी केयर कर सकते हैं। तो आइए जानते हैं कैसे ...
6
7
टमाटर का उपयोग भोजन के स्वाद को बढ़ाने के लिए खूब किया जाता है। पौष्टिक गुणों से भरपूर टमाटर सेहत और सौंदर्य दोनों के लिए बेहद लाभकारी है। नियमित रूप से टमाटर के जूस के सेवन से सेहत और सौंदर्य दोनों ही पाई जा सकती हैं। टमाटर आपकी खूबसूरत त्वचा की ...
7
8
चेहरे पर काली झाइयां, झुर्रियां, डार्क सर्कल्‍स आपकी खूबसूरती में बदसूरती के दाग पड़ने लगते हैं। इसके बाद आप कितने भी क्रीम पाउडर लगा लें आपको किसी तरह से आराम नहीं मिलेगा। या थोड़ी देर में ही क्रीम पाउडर भी खत्‍म हो जाता है। लेकिन नानी मां का एक ...
8
8
9
बारिश के मौसम में बीमारियों का खतरा अधिक होता है। इसलिए अधिक सावधानी बरतने की जरूरत होती है। बारिश में आपको गंभीर चोट भी लग जाती है तो खतरा बढ़ जाता है। घाव भरने में भी टाइम लगता है। वहीं अगर आप पियर्सिंग कराने की सोच रहे हैं तो तो थोड़ा ठहर जाएं। ...
9
10
चेहरे की खूबसूरती को बरकरार रखने के लिए कई मर्तबा अलग-अलग क्रिम का उपयोग करते हैं लेकिन उसका असर कुछ ही वक्‍त रहता है। चेहरे को पिंपल फ्री, फलालेस, चमकदार बनाने के लिए महंगे से महंगे ट्रीटमेंट लेते हैं। पर असर बहुत लंबे वक्‍त तक नहीं रहता है। शायद ...
10
11
बारिश के मौसम में अक्‍सर लोग बाहर निकलने से मना करते हैं। लेकिन मौसम ही इतना सुहाना होता है कि अपने आपको रोक नहीं पाते हैं।ऐसे में कही न कही आउटिंग का प्‍लान बन ही जाता है। लेकिन लड़कियां मेकअप नहीं करें ऐसा हो नहीं सकता है। लेकिन बारिश के मौसम में ...
11
12
चावल भारतीयों के भोजन का सबसे अहम हिस्‍सा है। चावल का सेवन सेहत के लिए अच्‍छा माना जाता है। बल्कि भोजन में चावल होते हैं तो उसे संपूर्ण भोजन की श्रेणी में रखा जाता है। वहीं चावल का पानी भी कई तरह से इस्‍तेमाल किया जाता है। पीरियड्स, डायरिया,पेट ...
12
13
आजकल लोग वास्तु को लेकर इतने सजग हो गए है कि वास्तु का ध्यान रखते हुए ही परदों की खरीदारी की जाती है। पहले एक परदे से ही काम चल जाता था, लेकिन लोग अब घर को नया
13
14
स्किन पर एक भी दाग होने पर चेहरा अच्‍छा नहीं लगता है। सभी को कोमल और स्‍पॉटलेस स्किन पसंद आती है। ऐसे में आप भी चेहरे पर अलग-अलग नुस्‍खें आजमा कर थक गए है तो विटामिन ई कैप्‍सूल आपकी मदद करेगा। जी हां, विटामिन ई कैप्‍सूल में मौजूद तत्‍व से स्किन एकदम ...
14
15
मानसून में हेयर फॉल होना आम बात है लेकिन बहुत बाल झड़ना परेशानी बन जाती है। अक्‍सर मन में ख्‍याल आने लगते हैं कही सारे बाल नहीं झड़ जाएं। कई बार यह सोच-सोच कर और अधिक बाल गिरने लगते हैं। ऐसे में परेशान होने की जरूरत नहीं है। आपको बताने जा रहे हैं ...
15
16
हर मौसम में पहनावा चुनते समय हम अपनी सुविधा अनुसार कुछ सावधानियां जरूर रखते हैं। मौसम के अनुसार कपड़ों का चयन फैशन और स्वास्थ्य दोनों के लिहाज से बिल्कुल फिट होता है।
16
17
गुड़ प्राकृतिक रूप से मीठा होता है जिसका सेवन करने से नुकसान के आसार कम होते हैं चीनी की तुलना में। गुड़ का इस्तेमाल भिन्‍न - भिन्‍न तरह से किया जाता है। ठंड, बारिश और गर्मी तीनों सीजन में उपयोग करते हैं। समावेश करके देखा जाए तो अभी तक इसका उपयोग ...
17
18
बकरीद या ईद-उल-अजहा के त्योहार पर अधिकतर महिलाएं और लड़कियां मेहंदी लगाती हैं। कई महिलाओं को नई-नई तरह डिजाइन वाली मेहंदी लगाने का शौक होता है।
18
19
हरियाली तीज में महिलाओं के 16 श्रृंगार का भी काफी महत्व होता है। इस अवसर पर महिलाएं सज-संवर कर भगवान शिव और माता पार्वती की आराधना कर अपने पति की लंबी उम्र की कामना करती हैं।
19