Fact Check: जनसंख्या नियंत्रण कानून की मांग के बीच इस मुस्लिम परिवार की तस्वीर हुई वायरल, जानिए इसकी सच्चाई

Last Updated: शुक्रवार, 16 जुलाई 2021 (13:00 IST)
उत्तर प्रदेश में बढ़ती जनसंख्या पर काबू पाने के लिए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने हाल ही में उत्तर प्रदेश जनसंख्या नीति 2021-2030 का एलान किया। इसके बाद से ही पूरे देश में लागू करने की मांग हो रही है। इसी बीच सोशल मीडिया पर एक परिवार की तस्वीर जमकर वायरल हो रही है। तस्वीर में एक व्यक्ति व्हीलचेयर पर बैठा है, उसके चारों तरफ 6 बच्चे और एक बच्चा गोदी में लिए एक महिला खड़ी नजर आ रही है। दावा किया जा रहा है कि ये भारत के एक मुस्लिम परिवार की तस्वीर है।

क्या हो रहा वायरल-


जनसंख्या नियंत्रण कानून की मांग करते हुए यूजर्स इस तस्वीर को शेयर करते हुए लिख रहे हैं कि इस शख्स के दोनों पैर काम नहीं करते हैं, लेकिन फिर भी इसने 8 बच्चे पैदा किए हैं। क्या उन्हें खाना और रोजगार मुहैया कराना सरकार की जिम्मेदारी है?








क्या है सच-


गूगल पर रिवर्स इमेज सर्च करने पर हमें ये तस्वीर biennialgrant.com नामक एक वेबसाइट पर “The Rohingyas: A People Without A Home” टाइटल के तहत मिली। यहां दी गई जानकारी के मुताबिक, इसे बांग्लादेश के डॉक्यूमेंटरी फोटोजर्नलिस्ट प्रबल राशिद ने साल 2017 में खींची थी। वे अमेरिका के ZUMA Press के लिए काम करते हैं। Biennial Grant दुनिया भर के उभरते फोटोग्राफरों के लिए फोटोग्राफी प्रोजेक्ट को फंड करता है।

हमें ये तस्वीर स्टॉक फोटो वेबसाइट Alamy में भी मिली। इसमें तस्वीर का क्रेडिट ZUMA Press को दिया गया है। कैप्शन के मुताबिक, ये तस्वीर मोहम्मद आलमगीर नाम के शख्स और उसके परिवार की है। पोलियो की वजह से आलमगीर विकलांग हो गया था। म्यांमार में हुई हिंसा के बाद अपने परिवार के साथ भागकर उसने बांग्लादेश के क़ॉक्स बाजार में स्थित कुटुपलोंग रिफ्यूजी कैंप में शरण ली थी।

वेबदुनिया की पड़ताल में विकलांग व्यक्ति की उसके परिवार के साथ वायरल तस्वीर भारत की नहीं, बल्कि बांग्लादेश की निकली।



और भी पढ़ें :