14 फरवरी और दिलवाले !

ND
मेरे प्यारे भाइयों फरवरी के दिन जैसे-जैसे बीतते जा रहे हैं, आप लोगों के दिल की धड़कनें बढ़ती जा रही होंगी। आखिर आप जैसे अनेक लोगों का फेस्टिवल जो आ रहा है। जैसे इंडिपेंडेस डे और रिपब्लिक डे हैं, वैसे ही 14 फरवरी और दिलवाले हैं।

वैसे यह दिन जाना जाता है वेलेंटाइन डे के रूप में, लेकिन जिस संत वेलेंटाइन की वजह से लोगों को यह दिन मनाना नसीब हुआ है, उन्हें कोई नहीं जानता। इन दिनों यह आलम है कि आप जहाँ नजर दौड़ाएँगे, वहीं आपको प्रणय निवेदन करने के लिए कार्ड्स मिल जाएँगे।

पूरी दुनिया का हर शहर और इन शहरों के हर बाजार इस मौके को छोड़ना नहीं चाहते हैं। सारे राँझे, मजनू और महिवाल इस दिन अपना दिल चीरकर रख देंगे, क्योंकि यही वह दिन है, जब आप दिलेरी से 'आई लव यू' कह सकते हैं।

मैं हमेशा सोचती हूँ कि यदि मुझे 14 फरवरी के पहले प्यार हो जाए तब तो ठीक है, लेकिन यदि उसके बाद हो तो पूरे एक साल रुकना पड़ेगा, क्योंकि तभी मैं अगले वेलेंटाइन डे पर अपने प्यार का इजहार कर पाऊँगी।
  तो मेरे प्यारे भाइयों जब 14 तारीख को आपके हाथों में अपनी प्रियतमा को देने के लिए हो ढेर से गुलाब, सुन्दर सा कार्ड और कोई चॉकलेट का डिब्बा हो तो एक बार प्यार के इस शाब्दिक अर्थ और इस दिन के औचित्य पर गौर करना न भूलिएगा?      


अब बेचारे इन दीवानों को कौन समझाए कि यह प्यार-मुहब्बत जैसी चीजें किसी दिन या तारीख की मोहताज नहीं होतीं। यह तो वह भावना है जो पता नहीं कब दिल में अपना मुकाम बनाकर रहने लगती है। पता नहीं कब यह सपना पलकों के नीचे पलने लगता है।

प्यार में तो बस दो ही चीजें हो सकती हैं, या तो किसी को अपना बना लो या फिर किसी के हो जाओ। कोई सा भी प्यार दुनिया के किसी कार्ड, किसी चॉकलेट, किसी फूल या किसी गिफ्ट से नहीं खरीदा जा सकता।

किसी भी कार्ड पर कितनी ही रूमानियत भरी लाइनें क्यों न लिखी हों, जब तक देने वाले या लेने वाले के मन में इस रूमानियत का एहसास न हो, ये सारी बातें बेमानी हैं। सुर्ख गुलाब का ये रंग जब तक पूरी शिद्दत से जिन्दगी में न उतर आए, आपके लिए कोई भी रंग काम का नहीं। फिर प्यार का रंग तो बहुत बड़ी बात है।

वेलेंटाइन तो वह दिन है जिसमें आप मम्मी, पापा, छोटे भाई, बहन या फिर अपने हमउम्र दोस्तों से खुशियाँ बाँट सकते हो। जो आपसे बड़े हैं, उन्हें इज्जत दीजिए। जरूरी नहीं कि आप लड़के हैं तो लड़की दोस्त के साथ ही घूमने जाएँ। गर्ल फ्रैंड या बॉय फ्रैंड को स्टेटस सिंबल मानकर चलेंगे तो हमेशा नुकसान में रहेंगे।

प्यार कीजिए यह कोई बुरी बात नहीं, लेकिन बस इसे किसी दिन विशेष की सीमा में मत बाँधिए। प्यार वैसे तो अपने आप में अलग ही चीज है, लेकिन किसी दिलजले ने इसे जिस रूप में दिया वह भी गौर करने लायक है। उसके अनुसार प्यार मतलब लव का पूरा अर्थ है।

एल- लेक ऑफ सॉरो (दुखों की झील) ओ- ओशन ऑफ टीयर्स (आँसुओं का महासागर) वी- वैली ऑफ स्ट्रगल (संघर्ष की घाटी) ई- एण्ड ऑफ लाइफ (जीवन की समाप्ति)

WD|
तो मेरे प्यारे भाइयों जब 14 तारीख को आपके हाथों में अपनी प्रियतमा को देने के लिए हो ढेर से गुलाब, सुन्दर सा कार्ड और कोई चॉकलेट का डिब्बा हो तो एक बार प्यार के इस शाब्दिक अर्थ और इस दिन के औचित्य पर गौर करना न भूलिएगा?



और भी पढ़ें :