वसीम रिजवी बने त्यागी, इस्लाम छोड़ अपनाया हिन्दू धर्म, यति नरसिंहानंद ने करवाया धर्म परिवर्तन

अवनीश कुमार| Last Updated: सोमवार, 6 दिसंबर 2021 (13:02 IST)
लखनऊ। विवादों से घिरे रहने वाले शिया सेंट्रल वक्फ बोर्ड के पूर्व चेयरमैन वसीम रिजवी ने धर्म को छोड़कर अपना लिया है और आज से वे रिजवी नही बल्कि त्यागी कहलाए जाएंगे। उन्होंने आज गाजियाबाद स्थित डासना के देवी मंदिर में यति नरसिंहानंद सरस्वती ने उन्हें हिन्दू धर्म में शामिल कराया और वसीम रिजवी को त्यागी बिरादरी से जोड़ा गया है।
इस दौरान स्वेच्छा से इस्लाम धर्म को छोड़कर हिन्दू धर्म को अपने वाले वसीम रिजवी ने कहा कि मुझे इस्लाम से बाहर कर दिया गया और हमारे सिर पर हर शुक्रवार को इनाम बढ़ा दिया जाता है, इसलिए आज मैं सनातन धर्म अपना रहा हूं, वहीं इस मौके पर यति नरसिंहानंद सरस्वती ने कहा कि हम वसीम रिजवी के साथ हैं।

गौरतलब है कि वसीम रिजवी अक्सर ही विवादों में रहते हैं। कुछ दिनों पहले रिजवी ने अपनी वसीयत लिखी थी। इसमें उन्होंने इच्छा जताई थी कि उनके मरने के बाद उन्हें दफनाया नहीं जाए, बल्कि हिन्दू रीति-रिवाज से अंतिम संस्कार किया जाए। इसके बाद जमकर कर विवाद भी हुआ था।

इसके कुछ दिनों के बाद वसीम रिजवी ने ऐलान किया था कि वे इस्लाम छोड़ हिन्दू धर्म अपनाने जा रहे हैं। उन्होंने कहा था कि डासना की देवी मंदिर के महंत यति नरसिंहानंद सरस्वती उन्हें सनातन धर्म में शामिल करवाएंगे।



और भी पढ़ें :