गिरिराज सिंह बोले, IVF तकनीक से हर वर्ष 31 लाख बछिया होंगी तैयार

Last Updated: सोमवार, 5 जुलाई 2021 (13:04 IST)
बरेली (उत्तरप्रदेश)। केंद्रीय पशुपालन, मत्स्य एवं डेयरी मंत्री ने कहा है कि देश में हर साल 1 लाख बछिया (गाय के मादा बच्चे) तैयार करने वाले 31 तकनीकी केंद्र बनाए जा रहे हैं। इनमें से हर बछिया बड़ी होकर रोजाना 30 लीटर दूध देगी।
ALSO READ:

'इस' और 'उस' आपातकाल के बीच का असली सच क्या है?

बरेली के 3 दिवसीय दौरे पर आए सिंह ने रविवार को बातचीत में कहा कि केंद्र सरकार की परियोजना के तहत देश में 31 तकनीकी केंद्रों पर तेजी से काम चल रहा है। इनमें से हर केंद्र पर आईवीएफ (इन विट्रो फर्टिलाइजेशन) तकनीक से प्रतिवर्ष 1 लाख बछिया पैदा होंगी। इस प्रकार प्रतिवर्ष देश में 31 लाख बछिया जन्म लेंगी। उन्होंने बताया कि इस परियोजना के तहत 5 लीटर दूध देने वाली गाय से जो बछिया जन्म लेगी, वह बड़ी होकर 30 लीटर दूध देगी। इन 31 तकनीकी केंद्रों में से 3 केंद्र उत्तरप्रदेश के बहेड़ी (बरेली), बाराबंकी और मथुरा जिलों में स्थापित होंगे।


सिंह ने को राज्यों के लिए मॉडल करार देते हुए कहा कि राज्य में कृत्रिम गर्भाधान के जरिए दुधारू पशुओं की संख्या में 17 फीसदी वृद्धि हुई है। कृषि और पशुपालन में युवाओं का रुझान बढ़ा है और इसका परिणाम भी दिखने लगा है कि अब विद्यार्थी अच्छे पैकेज की नौकरी की तरफ न जाकर आधुनिक तकनीक का इस्तेमाल कर कम लागत में कृषि और पशुपालन क्षेत्र में अच्छी आमदनी कर रहे हैं। सिंह ने अपने 3 दिवसीय बरेली दौरे पर आईवीआरआई, सीएआरआई और रुहेलखंड विश्वविद्यालय के विभिन्न कार्यक्रमों में भाग लिया।(भाषा)



और भी पढ़ें :