योगी बोले, चचाजान और अब्बाजान के अनुयायियों से कहूंगा कि वे माहौल खराब न करें

अवनीश कुमार| Last Updated: मंगलवार, 23 नवंबर 2021 (16:32 IST)
हमें फॉलो करें
कानपुर। कानपुर के साकेत नगर स्थित पार्टी के नवनिर्मित के के लिए निराला नगर मैदान में सजे पंडाल के मंच पर भाजपा के वरिष्ठ नेताओं के साथ मुख्यमंत्री और जनप्रतिनिधि मौजूद रहे। कानपुर समेत प्रदेश के 8 भाजपा कार्यालयों का बटन दबाकर बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने शुभारंभ किया गया।

इस दौरान मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मंच से संबोधित करते हुए कहा कि श्रद्धेय अटलजी ने एक बात कही थी कि हीन राजनीति मौत का फंदा होता है। भारतीय राजनीति को देखते हैं तो आजादी के बाद मूल्यों, आदर्शों और भारत के प्रति अपना समस्त समर्पण करने वाला अगर कोई दल देश और दुनिया की नजरों में है तो वह भारतीय जनता पार्टी है जिसके लिए व्यक्ति नहीं, बल्कि राष्ट्र सर्वोपरि है। इसके लिए राष्ट्रधर्म है और उसने अपना सर्वस्व समर्पित करने के भाव के साथ इस कार्यक्रम को आगे बढ़ाया। यही वजह है कि दुनिया के सबसे बड़े राजनीतिक दल के साथ भारतीय जनता पार्टी दुनिया के सामने कौतूहल और आश्चर्य का विषय है। जब कोरोना जैसी महामारी से दुनिया त्रस्त थी और अपनी जान बचाने के लिए भाग रही थी तब भाजपा के प्रत्येक कार्यकर्ता ने मानवता की रक्षा के लिए समर्पित भाव के साथ काम करके संगठन को ऊंचाइयां दी हैं।
माहौल खराब करने पर सरकार निपटना भी जानती है : कानपुर के साकेत नगर स्थित पार्टी के नवनिर्मित क्षेत्रीय कार्यालय के शुभारंभ के लिए निराला नगर मैदान में सजे पंडाल के मंच पर भाजपा के वरिष्ठ नेताओं के साथ मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और जनप्रतिनिधि मौजूद रहे। इस दौरान कानपुर समेत प्रदेश के 8 भाजपा कार्योलयों का बटन दबाकर बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने शुभारंभ किया।
इसी मंच से मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने संबोधित करते हुए विपक्ष पर जमकर हमला बोलते हुए कहा कि चचाजान और अब्बाजान के इन अनुयायियों से कहूंगा कि वे सावधान होकर सुन लें कि अगर प्रदेश की भावनाओं को भड़काकर माहौल खराब करोगे तो फिर सख्ती के साथ सरकार निपटना भी जानती है। उन्होंने कहा कि कुछ लोग व ओवैसी व सपा के एजेंट बनकर भावनाओं को भड़काने का काम कर रहे हैं। उत्तरप्रदेश अब दंगा नहीं, दंगामुक्त प्रदेश की पहचान के तौर पर है। प्रदेश में 2017 के पहले हर तीसरे-चौथे दिन दंगे होते थे। आज यहां से चेतावनी देता हूं, जो यहां पर CAA के नाम पर फिर से भावनाओं को भड़काने का काम कर रहा है।



और भी पढ़ें :