PM मोदी ने की सांसदों और राजनीतिक दलों से अपील, बोले- चुनाव तो चलते रहेंगे, बजट सत्र को बनाएं फलदायी...

पुनः संशोधित सोमवार, 31 जनवरी 2022 (21:31 IST)
हमें फॉलो करें
नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सोमवार को कहा कि चुनाव का लोकतंत्र में अपना स्थान है और वह प्रक्रिया चलती रहेगी, लेकिन पूरे वर्ष का खाका खींचने वाला का बहुत महत्वपूर्ण है। बजट सत्र के पहले दिन संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री ने सभी सांसदों और राजनीतिक दलों से इस सत्र को फलदायी बनाने का आह्वान किया।
उन्होंने कहा, यह बात सही है कि बार-बार चुनाव के कारण सत्र भी प्रभावित होते हैं, चर्चाएं भी प्रभावित होती हैं, लेकिन मैं सभी सांसदों से प्रार्थना करूंगा कि चुनाव अपनी जगह पर हैं, चलते रहेंगे, लेकिन बजट सत्र पूरे वर्षभर का खाका खींचता है, इसलिए यह बहुत महत्वपूर्ण होता है।

उन्होंने सांसदों का आह्वान करते हुए कहा, हम पूरी प्रतिबद्धता के साथ इस बजट सत्र को जितना ज्यादा फलदायी बनाएंगे, आने वाला पूरा वर्ष हमें नई आर्थिक ऊंचाइयों पर ले जाने के लिए भी एक बहुत बड़ा कारक बनेगा। उन्होंने सभी राजनीतिक दलों से मुक्त और मानवीय संवेदनाओं से भरी हुई चर्चा और अच्छे मकसद से चर्चा की अपेक्षा जताई।

प्रधानमंत्री ने कहा कि आज की वैश्विक परिस्थिति में भारत के लिए बहुत अवसर मौजूद हैं और भारत की आर्थिक प्रगति, भारत में टीकाकरण का अभियान, भारत के अपने खोजे हुए टीके पूरी दुनिया में विश्वास पैदा कर रहे हैं।

उन्होंने कहा, इस बजट सत्र में भी हम सांसदों की बातचीत, चर्चा के मुद्दे और खुले मन से की गई चर्चा, वैश्विक प्रभाव का एक महत्वपूर्ण अवसर बन सकती है। उन्होंने उम्मीद जताई कि सभी और सभी खुले मन से उत्तम चर्चा करके देश को प्रगति के रास्ते पर ले जाने में, उसमें गति लाने में अवश्य मददगार होंगे।

गौरतलब है कि उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड, पंजाब, मणिपुर और गोवा में विधानसभा चुनाव की प्रक्रिया जारी है। संसद के बजट सत्र के हंगामेदार रहने की संभावना है, क्योंकि विपक्षी दल किसानों के मुद्दों और चीन के साथ सीमा विवाद मामले को उठाने को तैयार हैं। साथ ही विपक्षी दल पेगासस जासूसी मामलों को लेकर भी सरकार को घेर सकते हैं।

समाचार पत्र न्यूयॉर्क टाइम्स ने एक खबर में पिछले दिनों दावा किया कि इसराइली स्पाईवेयर पेगासस और एक मिसाइल प्रणाली भारत-इसराइल के बीच 2017 में हुए लगभग दो अरब अमेरिकी डॉलर के हथियार एवं खुफिया उपकरण सौदे के 'केंद्र बिंदु' थे। इसके बाद विपक्ष ने सरकार पर अवैध जासूसी करने में संलिप्त रहने का आरोप लगाया था और इसे देशद्रोह करार दिया था।

लोकसभा में कांग्रेस के नेता अधीर रंजन चौधरी ने लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला को पत्र लिखकर सदन को गुमराह करने के लिए दूरसंचार मंत्री अश्विनी वैष्णव के खिलाफ विशेषाधिकार हनन का प्रस्ताव लाने का आग्रह किया है। चौधरी के मुताबिक, वैष्णव ने पिछले साल संसद में दिए एक बयान में कहा कि जासूसी संबंधी विपक्ष के आरोपों को खारिज कर दिया था।

संसद के बजट सत्र का पहला चरण 31 जनवरी से 11 फरवरी तक प्रस्तावित है। इसके बाद विभिन्न विभागों के बजटीय आवंटन पर विचार के लिए अवकाश रहेगा। बजट सत्र का दूसरा चरण 14 मार्च से आरंभ होगा, जो आठ अप्रैल तक चलेगा।(भाषा)



और भी पढ़ें :