सभी टीम इवेंट्स से भारतीय तीरंदाज बाहर, अब सिंग्ल्स मुकाबलों से ही आस

पुनः संशोधित सोमवार, 26 जुलाई 2021 (12:55 IST)
टोक्यो:अतनु दास, और की सोमवार को यहां टीम स्पर्धा के क्वार्टर फाइनल में खिताब के प्रबल दावेदार दक्षिण कोरिया से हारकर टोक्यो ओलंपिक खेलों से बाहर हो गयी।
भारतीय तिकड़ी ने कजाखस्तान को 6-2 से हराकर दिन की अच्छी शुरुआत की थी लेकिन क्वार्टर फाइनल में उनका सामना नंबर एक कोरिया से था जिससे उसे 0-6 से करारी हार का सामना करना पड़ा। इससे पहले मिश्रित युगल में दीपिका कुमारी और जाधव की जोड़ी भी कोरियाई टीम से हारकर क्वार्टर फाइनल से आगे नहीं बढ़ पायी थी।

पुरुष टीम स्पर्धा में कोरिया के डियोक जे किम, वूजिन किम और जिनयेक ओह ने भारतीय टीम को 59-54, 59-57, 56-54 से हराया।
कोरियाई टीम पहले दो सेट में पूरी लय में दिखी। उसने कुल 12 में से 10 ‘परफेक्ट 10’ जमाकर भारतीयों पर दबाव बना दिया।

विश्व चैंपियनशिप 2019 की रजत पदक विजेता भारतीय टीम ने दूसरे सेट में अच्छी चुनौती पेश की और चार बार 10 के अंक बनाये लेकिन दास आखिरी तीर पर केवल आठ अंक बना पाये और कोरियाई टीम ने यह सेट जीत दिया।

भारत को ग्वाटेमाला सिटी विश्व कप के स्वर्ण पदक विजेता दास ने निराश किया जिन्होंने इससे पहले कजाखस्तान के खिलाफ शानदार प्रदर्शन किया था। वह कोरिया के खिलाफ एक बार भी ‘परफेक्ट 10’ नहीं बना पाये।
दूसरी तरफ पहली बार ओलंपिक में खेल रहे जाधव ने बेहतरीन प्रदर्शन किया था और पांच बार 10 के स्कोर बनाये जबकि तीसरे ओलंपिक में खेल रहे राय ने तीन बार 10 स्कोर बनाया लेकिन यह जीत के लिये पर्याप्त नहीं था।
इससे पहले दास ने कजाखस्तान के खिलाफ छह ‘परफेक्ट 10’ बनाये थे जिससे भारत ने इलफात अब्दुललिन, डेनिस गैनकिन और सैंजार मुसायेव की टीम को 55-54, 52-51, 56-57, 55-54 से पराजित किया था।

ग्वाटेमाला सिटी विश्व कप के स्वर्ण पदक विजेता दास व्यक्तिगत दौर में 35वें स्थान पर रहे थे जिसके कारण वह अपनी पत्नी दीपिका कुमारी के साथ मिश्रित युगल में जोड़ी नहीं बना पाये थे। कजाखस्तान के खिलाफ हालांकि वह अच्छी लय में दिखे।
कजाखस्तान के खिलाड़ियों ने 10, 9 और 9 अंक बनाये जिसके जवाब में भारत के तीनों तीरंदाजों ने समान नौ अंक हासिल किये। भारत की तरफ से पहले सेट के दूसरे चरण में जाधव और दास ने 10 अंक बनाये जिससे टीम एक अंक से यह सेट जीतने में सफल रही। कजाखस्तान के दो खिलाड़ी इस चरण में आठ-आठ अंक ही बना पाये थे।

दूसरे सेट के पहले चरण में कजाखस्तान के तीनों तीरंदाजों ने समान आठ अंक बनाये जबकि भारत ने 28 अंक बनाकर मजबूत बढ़त बना दी। तेज हवाओं के कारण जाधव अगले चरण में केवल सात अंक बना सके लेकिन इसके बावजूद भारतीय टीम दास के 10 और नौ अंक से दूसरा सेट भी जीतने में सफल रही।

तीसरा सेट बेहद कड़ा रहा जिसमें दोनों टीमों की तरफ से तीन बार 10 अंक बनाये गये। कजाखस्तान ने एक अंक से यह सेट जीतकर मैच को आगे खींच दिया। उसने चौथे सेट में भी शुरू में बढ़त बनायी लेकिन भारतीय टीम एक अंक से यह सेट और मैच अपने नाम करने में सफल रही।

भारत की तीरंदाजी में पदक की उम्मीद अब व्यक्तिगत मुकाबलों पर टिकी है जिसमें तीनों पुरुष खिलाड़ी और दीपिका बुधवार को मैदान पर उतरेंगे।(भाषा)



और भी पढ़ें :