हार्दिक की खराब फिटनेस का फायदा मिल सकता है इन 2 में से 1 गेंदबाज को, मिल सकता है टी-20 विश्वकप का टिकट

Last Updated: सोमवार, 11 अक्टूबर 2021 (13:45 IST)
नई दिल्ली: चेतन शर्मा की अगुवाई वाली भारतीय क्रिकेट बोर्ड (बीसीसीआई) की चयन समिति आगामी के लिए 15 सदस्यीय टीम में एक तेज गेंदबाज को शामिल करने पर चर्चा कर सकती है क्योंकि हरफनमौला हार्दिक पंड्या ने इंडियन प्रीमियर लीग में अपनी फ्रेंचाइजी के लिए गेंदबाजी नहीं की।हार्दिक की गेंदबाजी को लेकर संशय के बीच बीसीसीआई के पास टीम में बदलाव करने के लिए अभी और पांच दिनों (15 अक्टूबर) का समय है।

अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद ने सुपर 12 समूह में शामिल टीमों के लिए अंतिम 15 में बदलाव के लिए समय सीमा को बढाकर 15 अक्टूबर कर दी है।पहले चरण में भाग लेने वाली टीमों के लिए बदलाव की समयसीमा 10 अक्टूबर की मध्यरात्री (यूएई के समयानुसार) है।

दो साल पहले पीठ में स्ट्रेस फ्रैक्चर का शिकार होने वाले हार्दिक ने सर्जरी से वापसी के बाद ज्यादा गेंदबाजी नहीं की है। यह देखना होगा कि क्या विश्व कप में वह गेंदबाजी करेंगे या सिर्फ बल्लेबाजी पर ध्यान देंगे।

दीपक या शार्दुल की खुल सकती है किस्मत

बीसीसीआई के एक वरिष्ठ सूत्र ने गोपनीयता की शर्त पर पीटीआई से कहा, ‘‘ भारत की 15 सदस्यों की मुख्य टीम में कम से कम एक तेज गेंदबाज कमी है। हमारे पास शार्दुल ठाकुर और दीपक चाहर जैसे अनुभवी विकल्प है। शार्दुल खुद को गेंदबाजी ऑलराउंडर के रूप पर साबित कर चुके है जबकि दीपक चाहर ने श्रीलंका में अपनी बल्लेबाजी कौशल का प्रदर्शन किया है।’’

उन्होंने कहा, ‘‘अगर हार्दिक गेंदबाजी नहीं कर पाते हैं तो समिति इन दोनों में से किसी एक को टीम में शामिल कर सकती है।’’चयनकर्ता हार्दिक के साथ साथ ‘मिस्ट्री’ स्पिनर वरुण चक्रवर्ती के नाम पर फिर से चर्चा कर सकते है, जिनकी घुटने में परेशानी है।

सूत्र ने कहा, ‘‘ घुटने में परेशानी के कारण अगर वरुण टीम का हिस्सा नहीं बने तो उनका एक ही विकल्प दिखता है और वह युजवेंद्र चहल है।भारत के बायो बबल में नेट बॉलर के तौर पर उमरान मलिक पहले से मौजूद हैं। यह देखना दिलचस्प होगा कि क्या शिवम मावी को नेट गेंदबाज के तौर पर रखा जाता है या नहीं।

मुझे पूरा भरोसा है हार्दिक टी-20 विश्वकप में वापसी करेंगे : रोहित

आलराउंडर हार्दिक पांड्या ने संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) चरण में खेले गए इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) 2021 के पांच मुक़ाबले में प्रतिनिधित्व किया लेकिन किसी में भी उन्होंने गेंदबाज़ी नहीं की जो आगामी टी20 विश्वकप में भारत के लिए चिंता का सबब बन सकता है। हालांकि मुंबई इंडियंस के कप्तान रोहित शर्मा काफ़ी आश्वस्त हैं और उन्होंने कहा है कि पांड्या दिन ब दिन बेहतर होते जा रहे हैं।

आईपीएल प्लेऑफ से बाहर हो चुके पांच बार के चैंपियन मुंबई के कप्तान रोहित ने कहा, "फ़िज़ियो, ट्रेनर और पूरी मेडिकल टीम उनपर ध्यान दे रही है, फ़िलहाल तो उन्होंने इस लेग में एक भी गेंद नहीं डाली है। लेकिन वह दिन ब दिन बेहतर होते जा रहे हैं, मुझे लगता है कि अगले हफ़्ते से वह गेंदबाज़ी करने के लिए भी फ़िट हो जाएंगे। इसके ऊपर सिर्फ़ फ़िज़ियो या मेडिकल टीम ही कुछ बता सकती है।"

इससे पहले मुंबई इंडियंस के कोच माहेला जयवर्धने भी कह चुके हैं कि अगर उनपर गेंदबाज़ी के लिए दबाव डाला गया तो इसका असर उनकी बल्लेबाज़ी पर भी पड़ सकता है। हार्दिक के लिए आईपीएल का ये सीज़न बेहद निराशाजनक रहा, उन्होंने 14.11 के औसत से महज़ 117 रन बनाए और इस दौरान उनका स्ट्राइक रेट भी 113.39 ही रहा।

रोहित शर्मा ने उनकी बल्लेबाज़ी को लेकर कहा, "जहां तक उनके बल्लेबाज़ी का सवाल है तो हम सभी उनकी प्रतिभा से वाक़िफ़ हैं। इससे पहले भी वह इन हालातों से वापसी कर चुके हैं और मुझे व्यक्तिगत तौर पर भी विश्वास है कि वह दोबारा शानदार रंग में दिखेंगे।"



और भी पढ़ें :