0

धनिये की पंजीरी : जानिए कैसे बनाएं यह प्रसाद, पढ़ें आसान विधि

शुक्रवार,जुलाई 23, 2021
0
1
सर्वप्रथम घी गरम कर गेहूं का आटा डालकर धीमी आंच पर गुलाबी होने तक सेक लें। अब आटा थोड़ा ठंडा होने के बाद उसमें शकर बूरा, इलायची पाउडर मिलाकर मिश्रण को एकसार कर लें।
1
2
देवशयनी एकादशी पर विष्णु मंदिर में चढ़ाएं हलवे का प्रसाद, पढ़ें सरल विधि
2
3
भारत का लोकप्रिय पकवान 'मालपुआ' एक पारंपरिक भारतीय मिठाई है। भगवान भोलेनाथ को इसका भोग लगाने से वे अतिप्रसन्न होते हैं। अमावस्या पर भोलेनाथ को लगाएं मालपूए का भोग...
3
4
किसी भी अमावस्या पर भगवान शिवजी को खीर का भोग लगाने से वे प्रसन्न होकर खुशहाली का आशीष देते हैं। यहां पढ़ें सरल विधि..
4
4
5
सर्वप्रथम दूध को एक मोटे तल वाले बर्तन में गाढ़ा होने तक उबालें। तत्पश्चात उसमें शक्कर डालकर अच्छी तरह मिलाएं और पूरी तरह गाढ़ा होने दें। ऊपर से इलायची व मेवा की कतरन डाल दें।
5
6
एक कड़ाही में पानी, शुगर फ्री और केसर डालें। पानी में शुगर फ्री पूरी तरह से घुलने तक चलाएं। अब उसमें इलायची पाउडर डालें। मिश्रण गाढ़ा होने पर थोड़ा-थोड़ा करके पिसा काजू डालें,
6
7
खजूर की गुठली निकालकर टुकड़े-टुकड़े कर लें। अब कड़ाही में मलाई गरम करके उसमें पिंडखजूर के टुकड़े डालें व हिलाती रहें।
7
8
खीर बनाने से एक-दो घंटे पूर्व चावल धोकर पानी में गला दें। दूध को मोटे तले वाले बर्तन में डालकर गैस पर चढ़ा दें। दूध में चार-पांच उबाल आने पर चावल का पूरा पानी
8
8
9
हल्की-फुल्की बारिश में घूमने के साथ ही किसी चाट-पकौड़ी की दुकान पर जाकर गरमा-गरम कचोरी-समोसे, जलेबी, पकौड़े या कुछ मीठा खाने के मौके तलाशने लगता है। आपके लिए पेश हैं भुट्‍टे का स्वादिष्ट और पौष्टिक हलवा बनाने की आसान विधि-
9
10
फादर्स डे सभी के लिए बहुत खास दिन है, आप अपने पिता के लिए प्‍यार जताने का कोई मौका नहीं छोड़ना चाहते। ऐसे समय में आप उनके लिए अपने हाथों से कुछ खास डिशेज बना कर इस दिन को सेलिब्रेट कर सकते हैं। आइए जानें कुछ खास रेसिपीज-
10
11
विनायक, अंगारकी, संकष्टी या कोई सी भी चतुर्थी हो, श्री गणेश को मोदक और लड्‍डू का भोग अवश्‍य लगाना चाहिए। इससे प्रसन्न होकर श्री गणेश अपने भक्तों की हर मनोकामना पूर्ण करते हैं।
11
12
एक कड़ाही में, नारियल, काजू, पिस्ता व शकर डालें तथा दूध डाल कर पकाते रहें। मावा जैसा गाढ़ा होने लगे तो आंच से उतारें व इलायची मिला लें।
12
13
बूंदी के लड्‍डू बनाने के लिए सबसे पहले बेसन को छान लें। उसमें चुटकी भर मीठा पीला रंग मिलाइए और पानी से घोल तैयार कर लीजिए।
13
14
खसखस का इस्तेमाल स्वाद और सेहत से भरपूर है, इसलिए स्वास्थ्य समस्याओं को दूर करने के लिए इसे दवा के रूप में प्रयोग करते हैं। पौष्ट‍िकता से भरपूर खसखस का उपयोग
14
15
हलवा पचने में बहुत हल्का होता है, इसलिए इसे सर्जरी के बाद, प्रसव के बाद, कमजोरी में, बीमारी से उबरने में और कम वजन वाले लोगों को भी दिया जा सकता है।
15
16
कोरोना महामारी के कारण बच्चे करीब डेढ़ साल से अपने घर में ही है। पढ़ाई भी ऑनलाइन ही चल रही है। साथ ही गर्मी का मौसम है और ऐसे समय में कुछ ठंडा खाने का मन जरूर करता है। इसी के साथ चल रही गर्मी की छुट्टियों में बच्चे कुछ ना कुछ जरूर सीखते हैं। इस बार ...
16
17
सबसे पहले मैदे को दूध के छींटे डाल-डालकर गीला कर लें। फिर किसी बर्तन में 1-2 घंटे दबाकर रखें। दो घंटे के पश्चात गीले मैदे को बारीक छलनी पर रखकर रगड़ें।
17
18
एक परात में सत्तू का आटा छान लें। अब घी को पिघाल कर सत्तू के आटे में घी, शक्कर का बूरा और पिसी इलायची डालें और मिश्रण को हाथ से एकसार कर लें।
18
19
आज हनुमान जयंती है। आज के दिन हनुमान जी को लड्डू या बूंदी के प्रसाद का भोग लगाने से वे प्रसन्न होते है। लेकिन अगर आप हनुमान जयंती के दिन उन्हें प्रसन्न करने के लिए निम्न मिठाई, पकवानों का प्रसाद या भोग लगाएं,
19