LIC का IPO : ‘सब्सक्रिप्शन’ के लिए खुला सबसे बड़ा आईपीओ, जानिए कौन कर सकता है अप्लाय?

पुनः संशोधित बुधवार, 4 मई 2022 (10:39 IST)
हमें फॉलो करें
नई दिल्ली। भारतीय जीवन बीमा निगम (LIC) का आरंभिक सार्वजनिक निर्गम (IPO) बुधवार को खुदरा एवं संस्थागत निवेशकों के अभिदान (सब्सक्रिप्शन) के लिए खुल गया। सरकार का लक्ष्य इससे अपने 3.5 फीसदी शेयरों की बिक्री करके 21,000 करोड़ रुपए जुटाना है। खुदरा एवं संस्थागत निवेशकों के लिए खुल गया है और यह नौ मई को बंद होगा।

एलआईसी ने निर्गम के लिए शेयर का मूल्य दायरा 902-949 रुपए तय किया है। इसमें मौजूदा पॉलिसीधारकों एवं एलआईसी के कर्मचारियों के लिए कुछ शेयर आरक्षित रखे गए हैं। खुदरा निवेशकों एवं पात्र कर्मचारियों को 45 रुपए प्रति शेयर और पॉलिसीधारकों को 60 रुपये प्रति शेयर की छूट दी जाएगी।

निर्गम के दौरान बिक्री के लिए 22.13 करोड़ इक्विटी शेयरों की पेशकश की जाएगी। एलआईसी के शेयर 17 मई को बाजार में सूचीबद्ध होने की संभावना है।
एलआईसी ने एंकर निवेशकों से 5,627 करोड़ रुपये जुटा लिए हैं जिनमें घरेलू कंपनियों की बहुतायत है। एंकर निवेशकों के लिए 949 रुपए प्रति इक्विटी शेयर की दर पर 5.92 करोड़ शेयर आरक्षित रखे गए थे।

कौन कर सकता है अप्लाय : ऐसा पहली बार हो रहा है, जब कोई कंपनी अपने आईपीओ में अपने ग्राहकों के लिए भी अलग से शेयरों का कोटा रख रही है। एक पॉलिसीहोल्डर की हैसियत से आप आईपीओ में अधिकतम 2 लाख रुपए तक का निवेश कर सकते हैं।
अगर आप भारतीय नागरिक है और आपके पास LIC की एक पॉलिसी है, तो आप इस आईपीओ में निवेश कर सकते हैं। अगर आपके पास जॉइंट पॉलिसी है, तो भी आप ही निवेशक माने जाएंगे।

वहीं, अगर मान लीजिए कि आप इमीडिएट पेंशन पॉलिसीहोल्डर हैं, तो आप भी इसमें अप्लाई कर सकते हैं, लेकिन अगर आपका स्पाउज़ इमीडिएट पेंशन पॉलिसीहोल्डर था और उसके निधन के बाद आपको पॉलिसी के बेनेफिट्स मिल रहे हैं, तो आप इस स्थिति में अप्लाई नहीं कर सकते।



और भी पढ़ें :