टोक्यो ओलंपिक के बाद पीवी सिंधू पर साइना नेहवाल ने ऐसे मारी बाजी

पुनः संशोधित सोमवार, 6 सितम्बर 2021 (14:50 IST)
नई दिल्ली:के ठीक बाद साइना नेहवाल ने पीवी सिंधु पर बाजी मार ली है। दोनों ओलंपिक पदक विजेताओं की फैंस कई बार तुलना करते हैं। इस बार टोक्यो ओलंपिक्स में पीवी सिंधु ने दूसरी बार पदक जीतकर मेडल के लिहाज से प्रदर्शन साइना से बेहतर किया है। हालांकि इस मुकाबले में साइना ने हाल ही में सिंधू पर बाजी मारी है।

भारत की स्टार खिलाड़ी साइना नेहवाल और बी साई प्रणीत डेनमार्क में नौ से 17 अक्टूबर के बीच होने वाले थॉमस और उबर कप में भारत की महिला और पुरुष टीमों की अगुवाई करेंगे।भारतीय बैडमिंटन संघ (बाइ) ने रविवार को सुदीरमन कप के लिये भी 12 सदस्यीय भारतीय टीम घोषित की।

थॉमस और उबर कप के लिये साइना के साथ एकल में मालविका बंसौड़, अदिति भट्ट और तनसीम मीर को शामिल किया है। महिलाओं की 10 सदस्यीय टीम में तीन युगल जोड़ियां हैं जिनमें तनिषा क्रैस्टो और रुतुपर्णा पांडा भी शामिल हैं।

पुरुषों की 10 सदस्यीय टीम में चार एकल खिलाड़ी और तीन युगल जोड़ियां हैं। एकल में प्रणीत के अलावा किदाम्बी श्रीकांत और ट्रायल्स में शीर्ष पर रहे दो खिलाड़ी किरण जार्ज और समीर वर्मा शामिल हैं।

युगल में चिराग शेट्टी और सात्विकसाईराज रंकीरेड्डी के अलावा ट्रायल्स में शीर्ष पर रही दो अन्य जोड़ियों को चुना गया है।

दो बार की ओलंपिक पदक विजेता पी वी सिंधू को टीम में शामिल नहीं किया गया है क्योंकि वह ओलंपिक के बाद कुछ समय के लिये विश्राम लेना चाहती हैं।

थॉमस कप में भारतीय टीम को ग्रुप सी में मौजूदा चैंपियन चीन के साथ रखा गया है। ग्रुप की दो अन्य टीमें नीदरलैंड और ताहिती हैं। महिला टीम को उबर कप के लिये थाईलैंड, स्पेन और स्कॉटलैंड के साथ ग्रुप बी में रखा गया है।

सुदीरमन कप के लिये 12 सदस्यीय टीम में श्रीकांत, प्रणीत के अलावा युगल में सात्विक और चिराग के साथ ध्रुव कपिला और एमआर अर्जुन की जोड़ी को भी शामिल किया गया है। महिलाओं में तनिषा और रुतुपर्णा के साथ अश्विनी पोनप्पा और एन सिक्की रेड्डी की जोड़ी को टीम में लिया गया है। एकल में बंसौड़ और भट्ट को टीम में जगह मिली है।

दोनों के रिश्तों में है खट्टास

भारत की स्टार बैडमिंटन खिलाड़ी पीवी सिंधू ने पिछले महीने सनसनीखेज खुलासा कर कहा था कि टोक्यो ओलंपिक में कांस्य पदक जीतने के बाद मुख्य राष्ट्रीय कोच पुलेला गोपीचंद ने उन्हें बधाई संदेश दिया जबकि सीनियर खिलाड़ी साइना नेहवाल से उन्हें बधाई नहीं मिली।

विस्तार से पूछे जाने पर सिंधू ने कहा, ‘‘गोपी सर ने मुझे संदेश भेजा। साइना ने नहीं। हम काफी बात नहीं करते।’’

गौरतलब है कि साइना नेहवाल पहली ऐसी महिला बैडमिंटन खिलाड़ी है जिन्होने कांस्य पदक जीता था। लंदन ओलंपिक में उन्होंने मेहनत तो की थी पर ब्रॉन्ज मेडल मैच में उन पर किस्मत मेहरबान थी और हारा हुआ मैच वह जीत गई क्योंकि सामने वाली खिलाड़ी चोट के चलते मैच नहीं खेल सकती थी। टोक्यो ओलंपिक में वह क्वालिफाय नहीं कर पायी थी।



और भी पढ़ें :