गोलकीपर सविता पुनिया की अगुवाई में इंग्लैंड से विश्वकप के पहले मैच में लोहा लेगा भारत

पुनः संशोधित शनिवार, 2 जुलाई 2022 (17:40 IST)
हमें फॉलो करें
एम्सटेलवीन:की कप्तान सविता ने इंग्लैंड के खिलाफ होने वाले एफआईएच महिला हॉकी मुकाबले से पहले शनिवार को कहा कि टीम "100 प्रतिशत तैयार है।"

टोक्यो ओलंपिक 2020 में भारत और ग्रेट ब्रिटेन कांस्य पदक मुकाबले में आमने-सामने आये थे, जहां इंग्लैंड ने करीबी मुकाबले में भारत को 4-3 से हराया था। अब भारत को अपने विश्व कप अभियान की शुरुआत रविवार को इंग्लैंड के खिलाफ करनी है।

दोनों टीमों की प्रतिद्वंद्विता इससे भी पुरानी रही है। लंदन में 2018 में आयोजित विश्व कप के पिछले संस्करण में, भारत ने राउंड रॉबिन लीग मैच में इंग्लैंड के साथ 1-1 से ड्रॉ खेला था। भारतीय महिला टीम ने उस वर्ष की शुरुआत में ऑस्ट्रेलिया के गोल्ड कोस्ट में राष्ट्रमंडल खेलों में ग्रुप चरण में इंग्लैंड को 2-1 से हराया भी था, लेकिन कांस्य पदक मैच में उनसे हार गई थी। ये दोनों टीमें 2006 के विश्व कप में आमने-सामने रही थीं, जहां उन्होंने 1-1 से ड्रॉ खेला था। साथ ही 2002 के चैंपियंस चैलेंज को 3-3 से ड्रॉ किया, और 1998 के महिला विश्व कप ग्रुप मैच में 1-0 से भारत को हार मिली थी।

आंकड़ों के आधार पर यह कहना गलत नहीं होगा कि भारत और इंग्लैंड के बीच रविवार का मैच रोमांचक होने वाला है।
Vandana Kataria hockey

भारतीय टीम की कप्तान सविता ने अपने प्रतिद्वंद्वी के बारे में बात करते हुए कहा, "भले ही एक टीम के रूप में हम अपने प्रदर्शन पर ध्यान केंद्रित करेंगे, लेकिन इंग्लैंड और भारत ने कुछ बहुत करीबी मुकाबले खेले हैं। निस्संदेह पिछले तीन-चार वर्षों में विशेष रूप से एक प्रतिद्वंद्विता विकसित हुई है।"

सविता ने कहा, "हमारे कुछ खिलाड़ी उनकी गोलकीपर मैडी हिंग को चुनौती देना चाहते हैं, जो गोलपोस्ट पर काफी असाधारण रही हैं। उनके पास लौरा उन्सवर्थ, गिजेल एंस्ले, उनकी कप्तान होली पीयरने-वेब और लिली ओवस्ले जैसे कुछ बहुत अनुभवी खिलाड़ी भी हैं, जो हमारे सामने अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन देना चाहेंगे।"

भारत और इंग्लैंड को इस साल की शुरुआत में एफआईएच हॉकी प्रो लीग में दो मैच खेलने थे, जो भारत को इंग्लैंड टीम की क्षमता और कमजोरियों की अच्छी समझ प्रदान कर सकते थे। यह मुकाबले रद्द कर दिये गये थे, लेकिन भारत प्रतिष्ठित विश्व कप में यहां अपनी संभावनाओं को लेकर आशावादी बना हुआ है।

गोलकीपर सविता ने टीम की सकारात्मक सोच के बारे में कहा, "हां, विश्व कप से पहले उनके खिलाफ मैच आदर्श होता, लेकिन अतीत में जो कुछ भी हुआ है, उससे हमें ज्यादा परेशान नहीं होना चाहिए। अभी हमारे लिए एकमात्र लक्ष्य टूर्नामेंट में अच्छी शुरुआत करना है और टीम 100 प्रतिशत तैयार है।"

भारतीय टीम पूल बी में अपने अभियान के पहले मैच में तीन जुलाई को इंग्लैंड से भिड़ेगी। अपने दूसरे मैच में वे पांच जुलाई को चीन से खेलेंगे और उसके बाद सात जुलाई को के एमस्टलवीन में न्यूजीलैंड का सामना करेंगे।सविता ने भारतीय प्रशंसकों से उनके पहले विश्व कप पदक के अभियान में उनका समर्थन करने का आग्रह किया।
उन्होंने कहा, "नीदरलैंड में एक बड़ा भारतीय समुदाय है और हम उम्मीद कर रहे हैं कि उनमें से कई मैच के लिए आएंगे। हमने देखा कि उनमें से कई प्रो लीग मैचों के दौरान रॉटरडैम में हमारा समर्थन करने आये थे और निश्चित रूप से प्रशंसकों का समर्थन हमें और भी अधिक प्रेरित करेगा।"(वार्ता)



और भी पढ़ें :