कम मुक्केबाजों की मौजूदगी के कारण इंडिया ओपन में 10 भारतीयों के बिना खेले पदक पक्के

गुवाहाटी। में 6 पुरुष और 4 महिलाओं सहित 10 मुक्केबाजों ने टूर्नामेंट के शुरू होने से पहले ही अपने अपने पदक पक्के कर लिए हैं।

दरअसल, ड्रॉ में कम मुक्केबाजों की मौजूदगी के कारण 10 खिलाड़ियों को सीधे ही सेमीफाइनल में प्रवेश मिल गया है। पुरुषों में और ने 81 किग्रा भार वर्ग के सेमीफाइनल में जगह बना ली है जबकि 91 किग्रा भार वर्ग में नमन तंवर और ने तथा 91 किग्रा से अधिक भार वर्ग में सतीश कुमार और अतुल ठाकुर ने अंतिम 4 में पहुंच पदक पक्के कर लिए हैं।
हालांकि सभी की निगाहें 6 बार की विश्व चैंपियन एमसी मैरीकॉम पर लगी होंगी जिनका महिलाओं के 51 किग्रा भार वर्ग में एशियाई खेलों की कांस्य विजेता निखत जरीन के साथ सेमीफाइनल में मुकाबला संभावित है, वहीं एशियाई खेलों के स्वर्ण विजेता अमित पंघल (52 किग्रा) को फाइनल में आसान प्रवेश मिलना तय है, जहां उनका मुकाबला रजत विजेता फिलीपींस के रोगेन सियागा लाडोन से हो सकता है।

महिलाओं के ड्रॉ में लोवलिना बोर्गोहेन और अंजलि ने पहले ही 69 किग्रा जबकि भाग्यबती कचारी और स्वीटी बोरा को 75 किग्रा भार वर्ग के सेमीफाइनल में जगह मिल गई है। भारतीय महिला मुक्केबाजों की परफॉर्मेंस निदेशक रफाएल बर्गामास्कोस ने कहा कि हर वर्ग में हमारे पास कोई न कोई है और मुकाबला काफी करीबी हो गया है। यह मुक्केबाजों के लिए अपनी प्रतिभा दिखाने के लिहाज से अहम टूर्नामेंट होगा और विश्व चैंपियनशिप से उन्हें तैयारी में मदद करेगा।
पुरुष वर्ग में 52 किग्रा और 56 किग्रा में मुकाबला काफी कड़ा है जिसमें कम से कम 3 भारतीय पदक पक्के हैं। 56 किग्रा वर्ग में एशियन चैंपियनशिप के रजत विजेता कविंदर सिंह बिष्ट, राष्ट्रमंडल खेलों के कांस्य विजेता मोहम्मद हुसामुद्दीन, विश्व चैंपियनशिप कांस्य विजेता गौरव बिधूड़ी पोडियम फिनिश के लिए भिड़ेंगे। 52 किग्रा वर्ग में पंघल, राष्ट्रमंडल खेलों के स्वर्ण विजेता गौरव सोलंकी और गीबी बाक्सिंग टूर्नामेंट के कांस्य विजेता सचिन सिवाच पदक के लिए मुकाबला करेंगे।
भारत के मुख्य परफॉर्मेंस निदेशक सांतियागो नियेवा ने कहा कि टूर्नामेंट में हमारे पास विश्व चैंपियन गौरव हैं जबकि एशियाई चैंपियनशिप में कविंदर और हुसामुद्दीन ने काफी प्रभावित किया है। 52 किग्रा में सोलंकी ने पोलैंड में हाल ही में स्वर्ण जीता है जबकि अमित और सचिन भी अहम खिलाड़ी हैं। यहां अनुभवी मुक्केबाज मौजूद हैं जिससे टूर्नामेंट में काफी रोमांच होगा। (वार्ता)



और भी पढ़ें :