14 और 15 दिसंबर को साल का अंतिम सूर्यग्रहण, पढ़ें खास सावधानियां


साल का अंतिम 14 और 15 दिसंबर को लगेगा। हिंदू पंचांग की गणना के अनुसार यह सूर्य ग्रहण वृश्चिक राशि में और ज्येष्ठा नक्षत्र में लगेगा।


14 दिसंबर को साल 2020 का अंतिम सूर्यग्रहण लगेगा। ज्योतिष और खगोलशास्त्र में ग्रहण को बहुत ही महत्वपूर्ण माना जाता है। आइए जानते हैं सूर्यग्रहण के बारे में खास जानकारियां....

कब लगेगा सूर्य ग्रहण
साल का अंतिम ग्रहण सूर्यग्रहण के तौर पर होगा। सूर्यग्रहण को लगेगा। भारतीय समयानुसार यह सूर्य ग्रहण शाम 7 बजकर 3 मिनट से शुरू हो जाएगा। ग्रहण की समाप्ति 15 दिसंबर की रात को 12 बजकर 23 मिनट होगा।
साल 2020 में कितने ग्रहण
इस साल कुल 6 ग्रहण लगा था। जिसमें से 4 चंद्रग्रहण और 2 सूर्यग्रहण। साल का पहला सूर्य ग्रहण 21 जून 2020 को लगा था। अब 14 दिसंबर को साल 2020 का
अंतिम ग्रहण लगेगा।

सूर्य ग्रहण किस नक्षत्र और राशि में
साल का दूसरा सूर्य ग्रहण 14 और 15 दिसंबर को लगेगा। हिंदू पंचांग की गणना के अनुसार यह सूर्य ग्रहण वृश्चिक राशि में और ज्येष्ठा नक्षत्र में लगेगा।
कहां-कहां दिखाई देगा यह सूर्य ग्रहण
यह सूर्य ग्रहण दक्षिण अमेरिका, साउथ अफ्रीका अटलांटिक, हिंद महासागर और प्रशांत महासागर के कुछ हिस्सों में दिखाई देगा। यह ग्रहण पूर्ण सूर्य ग्रहण होगा।

ग्रहण के दौरान सावधानियां
ग्रहण के दौरान और ग्रहण के खत्म होने तक भगवान की मूर्ति को नहीं छूना चाहिए।

ग्रहण में घर के मंदिरों के कपाट बंद कर देना चाहिए। ताकि भगवान पर ग्रहण का असर ना हो सके।
ग्रहण के दौरान गर्भवती महिलाओं को ग्रहण के दौरान ना तो ग्रहण देखना चाहिए और ना ही घर के बाहर निकलना चाहिए।


ग्रहण में स्त्री-पुरुष को शारीरिक संबंध नहीं बनाना चाहिए। ग्रहण के दौरान शारीरिक संबंध बनाने से गर्भधारण में संतान पर बुरा असर पड़ता है।

सूतक लगने पर और ग्रहण के दौरान सबसे ज्यादा नकारात्मक शक्तियां हावी रहती हैं। ग्रहण में कभी भी श्मशान घाट में नहीं जाना चाहिए।
सूतक लगने पर किसी भी तरह का कोई भी शुभ कार्य करने से बचना चाहिए। ग्रहण में किया गया कोई भी शुभ कार्य सफल नहीं होता।

ग्रहण के दौरान बाल और नाखून काटने से बचना चाहिए। इसके अलावा न तो कुछ खाना चाहिए और न ही खाना बनाना चाहिए।



और भी पढ़ें :