सिंहस्थ-16 में पहली बार शामिल होंगे किन्नर

भोपाल। मध्यप्रदेश की धार्मिक नगरी उज्जैन में अगले वर्ष अप्रैल माह में होने वाले सिंहस्थ-2016 (कुंभ) में किन्नर समुदाय भी शामिल होंगे और यहां किन्नरों का एक अलग अखाड़ा भी होगा।
 
उज्जैन के प्रसिद्ध आध्यामिक गुरु रिषी अजयदास ने सोमवार को बताया, 'अगले वर्ष 22 अप्रैल से 21 मई तक होने वाले सिंहस्थ-2016 में देश और विदेश से करीब दस हजार किन्नरों के शामिल होने की आशा है।’ उन्होंने बताया, 'हमारे आश्रम में 13 अक्तूबर से किन्नरों का अलग अखाड़ा शुरू कर दिया है। इसके उद्घाटन कार्यक्रम में करीब 17 राज्यों के किन्नर शामिल हुए थे।’
 
आध्यात्मिक गुरु ने बताया, 'बैंकाक के किन्नरों से भी हमारी चर्चा हुई है, वे भी सिंहस्थ में आने के लिए बेहद उत्सुक हैं।’ रिषी अजयदास ने कहा, 'मैं पिछले सात साल से किन्नरों के उत्थान के लिए काम कर रहा हूं। हमने इस वर्ग में शिक्षा, स्वास्थ्य और अन्य मामलों में जागरूकता लाने की कोशिश की है।’ 
 
उन्होंने कहा कि दुनिया में किन्नरों की तादाद लगभग 1.25 करोड़ है और विश्व भर में मेरे बहुत सारे शिष्य फैले हुए हैं। अब तक सिंहस्थ में परम्परागत तौर पर 13 अखाड़े शामिल होते हैं। कुछ श्रद्धालुओं को लगता है कि रूढ़िवादी संतों द्वारा कुंभ में किन्नरों के भाग लेने का विरोध किया जाएगा।
 
उज्जैन के जिलाधिकारी कविन्द्र कियावत ने कहा, 'परम्परानुसार सिंहस्थ में 13 अखाड़े शामिल होते हैं और किन्नरों के उज्जैन सिंहस्थ में शामिल होने के बारे में मैं कुछ नहीं बता सकता।’ (भाषा)



और भी पढ़ें :