शेयर बाजारों में लगातार 5वें दिन गिरावट, सेंसेक्स 53 हजार व निफ्टी 16 हजार अंक से नीचे

Last Updated: गुरुवार, 12 मई 2022 (18:19 IST)
हमें फॉलो करें
मुंबई। शेयर बाजारों में गुरुवार को लगातार 5वें कारोबारी सत्र में गिरावट आई। अमेरिका में उच्च मुद्रास्फीति के बीच वैश्विक स्तर पर नकारात्मक रुख के चलते 53,000 अंक और निफ्टी 16,000 अंक से नीचे फिसल गया।

विदेशी संस्थागत निवेशकों की बिकवाली से भी बाजार धारणा प्रभावित हुई, वहीं अप्रैल के मुद्रास्फीति और मार्च के के आंकड़ों की घोषणा से पहले निवेशकों ने सतर्क रुख अपनाया। बीएसई का 30 शेयरों वाला सेंसेक्स 1,158.08 अंक यानी 2.14 प्रतिशत फिसलकर पिछले 2 महीने के सबसे निचले स्तर 52,930.31 अंक पर बंद हुआ।
कारोबार के दौरान यह एक समय 1,386.09 अंक तक फिसलकर 52,702.30 अंक के स्तर तक आ गया था। इसी तरह नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी भी 359.10 अंक यानी 2.22 प्रतिशत लुढ़ककर 15,808 अंक पर बंद हुआ। विप्रो को छोड़कर सेंसेक्स की सभी कंपनियों के शेयर नुकसान में रहे।

इंडसइंड बैंक के शेयर में सबसे अधिक 5.82 प्रतिशत की गिरावट आई। टाटा स्टील, बजाज फाइनेंस, बजाज फिनसर्व, ऐक्सिस बैंक, एचडीएफसी बैंक, एचडीएफसी, टाइटन और एलएंडटी के शेयर भी नीचे आए। मूल्य के लिहाज से एचडीएफसी और रिलायंस इंडस्ट्रीज को सबसे अधिक नुकसान हुआ। अमेरिका में मुद्रास्फीति दर के अप्रैल में 8.3 प्रतिशत पर पहुंचने के बाद भारी बिकवाली से दुनियाभर के बाजार गिरावट का सामना कर रहे हैं।
जियोजीत फाइनेंशियल सर्विसेज के शोध प्रमुख विनोद नायर ने कहा कि अमेरिका के कल बुधवार को जारी मुद्रास्फीति आंकड़े दर्शाते हैं कि इसका दबाव आने वाले समय में भी रहेगा। हालांकि यह अपने सर्वोच्च स्तर पर है और जिंसों तथा कच्चे तेल की कीमतों में नरमी के साथ धीरे-धीरे इसमें स्थिरता आएगी। इसके अलावा बीएसई के मिडकैप में 2.24 प्रतिशत तथा स्मॉलकैप में 1.96 प्रतिशत की गिरावट दर्ज की गई।
एशिया के अन्य बाजारों- जापान के निक्की, हांगकांग के हैंगसेंग, चीन के शंघाई कंपोजिट और दक्षिण कोरिया के कॉस्पी में भी गिरावट रही। यूरोप के बाजार दोपहर के सत्र में नुकसान के साथ कारोबार कर रहे थे। इसके पहले अमेरिकी शेयर बाजारों में बुधवार को गिरावट दर्ज की गई। इस बीच अंतरराष्ट्रीय तेल मानक ब्रेंट क्रूड 2.02 प्रतिशत गिरकर 105.7 डॉलर प्रति बैरल पर आ गया। विदेशी निवेशकों का भारतीय बाजारों से निकासी का सिलसिला जारी है। शेयर बाजार के आंकड़ों के अनुसार विदेशी निवेशकों ने बुधवार को 3,609.35 करोड़ रुपए मूल्य के शेयर बेचे।



और भी पढ़ें :