मेरा देश मेरा अभिमान

कभी न बिखरे देश हमारा

aajadi
WDWD
मेरा मेरा अभिमान
नहीं है ये ज़मीन का टुकड़ा
ये है मेरी आत्मा, मेरी जान
ये है मेरा वतन, मेरी आन।

माँ की तरह इसने पाला
पिता की तरह मुझे दुलारा
इसकी माटी में खेल
मैंने अपना बचपन गुजारा।

माटी इसकी इतनी प्यारी
स्वर्ग से सुंदर धरा हमारी
इसके जल को शीश लगाते
नहीं, 'भारत माँ' कह बुलाते।

मेरा देश कभी नहीं बँटा
के नारों में
एक थे हम, एक है हम
एकता की सुगंध है इन फिजाओं में।

मेरा ये प्यारा हिंदोस्ता
शांति, का ये जहां
कभी न बिखरे देश हमारा
गायत्री शर्मा|
विजयी रहे तिरंगा प्यारा।



और भी पढ़ें :