0

इस महिला का पिछला जन्म जानकर चौंक गए थे महात्मा गांधी

शुक्रवार,जून 9, 2017
0
1
तिरुवनंतपुरम। धर्म को लेकर हमारे देश में जहां तरह-तरह के प्रतबिंध लगाए गए हैं। देश में बहुत से मंदिर ऐसे हैं जिनमें महिलाओं का प्रवेश करने पर रोक होती है। ये मंदिर देश भर में इस तरह के लिए जाना जाता है कि यहां प्रवेश करने और पूजा करने के इच्छुक ...
1
2
पश्चिम बंगाल में एक ऐसे व्यक्ति का जन्म हुआ जिसे पूंछ निकली हुई है। इस निकली हुई पूंछ के कारण ही लोग उसे हनुमान का रूप मानते हैं। इस व्यक्ति का नाम है चंद्रा। चंद्रा की माता उसे हनुमान का अवतार मानती है तो पिता उसकी पूंछ को अभिषाप मानते हैं।
2
3
छत्तीसगढ़ के ग्रामीण इलाकों में आज भी लोग लोहे की गर्म सलाखों से दगवाकर कई बीमारियों का उपचार करा रहे हैं। छत्तीसगढ़िया बोलचाल की भाषा में इसे 'आंकना' कहते हैं। इस तरीके से इलाज करने वाले इसे पूरी तरह कारगर होने का दावा करते हैं, जबकि इसका कोई ...
3
4
उत्तराखंड भारत में एक और जहां किसी दंपति का एक साथ मंदिर में पूजा करना शुभ माना जाता है। वहीं, देवभूमि हिमाचल प्रदेश के शिमला में मां दुर्गा का एक ऐसा मंदिर हैं जहां पति-पत्नी एक साथ पूजा नहीं कर सकते।
4
4
5
मंदिरों में कई बार चमत्कार देखने और सुनने को मिलते हैं। ऐसे ही चमत्कारों से भरा हुआ एक मंदिर राजस्थान के पाली जिले में स्थित है। राजस्थान के पाली जिले में हर साल, सैकड़ों साल पुराना इतिहास और चमत्कार दोहराया जाता है।
5
6
आत्मा-परमात्मा और इनसे जुड़े चमत्कारों की कहानियां आपने सुनी होंगी। संभव है कि आपने अपने जीवन में भी कुछ इस तरह का महसूस भी किया हो, लेकिन कई बार कुछ बातें ऐसी होती हैं जो कि भ्रम और वास्तविकता के बीच हल्की सी लकीर पर आ टिकती हैं।
6
7
हम आपको बता दें कि यह बातें स‌िर्फ मान्यताओं पर आधार‌ित है ज‌िन पर लोग परंपरागत तौर पर यकीन करते आए हैं। इनका कोई वैज्ञान‌िक आधार नहीं है। यह अंधविश्वास भी हो सकता है। आत्माओं के होने या नहीं होने के बारे में सदियों से विवाद जारी है। अधिकतर उनका ...
7
8
हमारे देश में सभी धर्मों का एक सा सम्‍मान और आदर किया जाता है और इसकी सबसे बड़ी मिसाल हैं यहां के मकबरे। इन मकबरों पर हर धर्म के लोग आते हैं और मन्‍नत मांगते हैं और इसके बदले में वे लोग मकबरों पर फूल और चादर चढ़ाते हैं, लेकिन एक ऐसा भी मकबरा हैं ...
8
8
9
अहमदाबाद। अहमदाबाद से 40 किलोमीटर की दूरी पर 'झूलासन' नाम का एक गांव है। यहां पर एक मंदिर है और शायद यह एक अकेला हिन्दू मंदिर है जिसमें मुस्लिम महिला की पूजा की जाती है। उल्लेखनीय है कि यह गांव अंतरिक्ष यात्री सुनीता विलियम्स के पिताजी का पैतृक गांव ...
9
10
देवभूमि भारत ऋषि-मुनियों की तपोभूमि और चमत्कारिक भूमि है। जब धरती पर देवी-देवता रहते थे, तो उस काल में उनके निर्देशन में धरती पर ऐसे स्थानों की खोज की गई जो धरती के किसी न किसी रहस्य से जुड़े थे या जिनका संबंध दूर स्थित तारों से था। इसी के चलते भारत ...
10
11
रायपुर/छुरा। छुरा ब्लाक के मुड़ागांव के एक प्राचीन मंदिर की एक कुत्ता तीन दिनों से परिक्रमा लगा रहा है। गांव के लोगों के लिए यह आश्चर्य और कौतूहल का विषय बन चुका है।
11
12
लेह। भारतीय भूमि चमत्कार और आश्चर्यों से भरी है। भारत में ऐसी जगहें है कि लोग अपनी दांतों तले आंगुलियां दबाने पर मजबूर हो जाते हैं। ऐसा ही एक भारतीय अजूबा है जम्मू-कश्मीर की लेह सीमा में स्थित एक चमत्कारिक पहाड़ी का जिसे लोग मैग्नेटिक हिल कहते हैं।
12
13
मेलाघाट खातिमा। जोर-जोर से बजते ढोल-नगाड़े, नाचते-गाते लोग और बड़े पैमाने पर जलसा-समारोह। ऐसे मनाया जाता है एक विवाह समारोह, जिसमें दूल्हा-दुल्हन कोई पुरुष और महिला नहीं, बल्कि है बरगद और पीपल के पेड़। लेकिन आखिर क्यों उनका विवाह कराया जाता है?
13
14
उत्तराखंड के गंगोलीहाट (जिला पिथोरागढ़) में स्थित पाताल भुवनेश्वर नामक एक रहस्यमयी गुफा है, जहां एक खंभा गढ़ा हुआ है। इस खंभे के बारे में मान्यता है कि यह लगातार बढ़ रहा है। स्कंद पुराण में इसका उल्लेख मिलता है।
14
15

दुर्गा मंदिर के वीडियो देंखे

मंगलवार,अक्टूबर 23, 2012
जैसलमेर से करीब 130 किमी दूर स्थि‍त माता तनोट की आवड़ माता का मंदिर है। तनोट माता को देवी हिंगलाज माता का एक रूप माना जाता है। हिंगलाज माता शक्तिपीठ वर्तमान में पाकिस्तान के बलूचिस्तान प्रांत के लासवेला जिले में स्थित है।
15
16
भूत से कौन नहीं डरता। जो भूतों को नहीं मानता है वह भी भूतों से डरता है। भूत-प्रेत के संबंध में अलग-अलग मान्यताएं हैं। भूतों को भगाने और भूतों को वश में करने के भी अजीब उपाय हैं। हमने आपके लिए सहेजे हैं भूतों से जुड़े कुछ खास वीडियो।
16
17
सैकड़ों वर्ष पुराने प्राचीन भवन से संचालित होता है सिटी कोतवाली। थाना परिसर में ही एक देवस्थान है, जिसे बंदीछोड़ बाबा की दरगाह कहते हैं। इस दरगाह के चमत्कार से आम लोगों के साथ खाकी वर्दी भी अभिभूत है।
17
18
आस्था और अंधविश्वास की इस बार की कड़ी में हम आपको जानकारी देते हैं गुजरात के वागड अंचल के डूंगरपुर जिले के गलियाकोट कस्बे की जहां स्थित है भविष्य बताने वाला एक अनूठा पेड़। इसे आस्था कहें या अंधविश्वास कि धर्म धाम वागड अंचल में एक ऐसा अनूठा पेड़ है ...
18
19
हर किसी ने किसी दरगाह पर फूल, अगरबत्ती, सेहरा, चादर, गुड़ चढा़ने की बात तो सुनी होगी, पर दिल्ली की एक दरगाह पर जलती हुई सिगरेट चढा़कर मन्नत मांगी जाती है। यह दरगाह नई दिल्ली के सरदार पटेल मार्ग पर मालचा मार्ग के अंदर घने जंगल में स्थित है।
19
20
80 साल की महिला उम्र की चुनौती के बावजूद 14 फुट लंबे बालों को बखूबी सहेजे है। युवावस्था में उनकी जुल्फों और हुस्न ने कई लोगों को दीवाना बनाया
20
21

माय फ्रेंड कोबरा

शनिवार,मार्च 10, 2012
आमिर की मानें तो एक बार वह अपने पिता के साथ खेत गया था। तब उसे यह कोबरा मिला। आमिर को कोबरा बेहद पसंद आया। और-तो-और कोबरे को भी आमिर से खासा लगाव हो गया। वह कोबरे को अपने साथ घर ले आया
21
22

देवी बनी बालिका....

शनिवार,मार्च 10, 2012
उनकी बेटी के दो सिर और चार हाथों के कारण हर कोई उसे देवी माँ कहकर पुकार रहा है। दूर-दूर से लोग उनकी बच्ची को चढ़ावा चढ़ाने आ रहे हैं। वहीं डॉक्टरों का कहना है कि
22
23

पेड़ करे उपचार...

शनिवार,मार्च 10, 2012
एक वृक्ष में दैवी शक्तियाँ मौजूद हैं, जिसकी छाँव से कई लाइलाज बीमारियों से छुटकारा पाया जा सकता है। पेड़ के प्रति इस आस्था के चलते हर सोमवार और शुक्रवार को हजारों की संख्या में लोग यहाँ आते
23
24
क्या कोई इंसान भी साँप को डस सकता है... आप मानें या न मानें, हरियाणा के रोहतक जिले के नखना गाँव का यह किस्सा अपने आप में अनोखा है। इस गाँब का एक व्यक्ति साँप पकड़कर उन्हें अपने दाँतो से काटकर मारने की क्षमता रखता है।
24
25

काले जादू से उपचार!

शनिवार,मार्च 10, 2012
उत्तराखंड का एक छोटे-से गाँव कुमारडग्गा का काला जादू अपने आप में एक अनसुलझी पहेली है। यहाँ काले जादू के जरिए शारीरिक व्याधियों का उपचार किया जाता है।
25
26

अनोखा विवाह...

शनिवार,मार्च 10, 2012
जोर-जोर से बजते ढोल-नगाड़े, नाचते-गाते लोग और बड़े पैमाने पर जलसा-समारोह। ऐसे मनाया गया एक विवाह समारोह, जिसमें दूल्हा-दुल्हन कोई पुरुष और महिला नहीं थे, बल्कि यह शादी थी - बरगद और पीपल के पेड़ की
26
27
छत्तीसगढ़ का एक छोटा-सा गाँव लेन्ध्रा। चाहे आप इसे मान्यता कहें या फिर अन्धविश्वास, इस गाँव के लोगों ने असमय मृत्यु से बचने के लिये सत्रह सालों से एक दीये को प्रज्ज्वलित कर रखा है
27
28

सिंघापुर की अनोखी परंपरा

शनिवार,मार्च 10, 2012
अनेकता में एकता की मिसाल भारतीय संस्कृति में कदम-कदम पर नजर आती है। यही कारण है कि उड़ीसा राज्य के सिंघापुर नामक स्थान पर ऐसी ही एक निराली परंपरा देखने को मिलती है। यहाँ एक ऐसा त्योहार मनाने का रिवाज है,
28
29

...जहां बरसते हैं कोड़े

शनिवार,मार्च 10, 2012
रायसेन मुख्यालय के समीपस्थ ग्राम बनगंवा में कई पीढ़ियों से एक अनूठी परंपरा चली आ रही है। जिसमें 25 फीट ऊपर खंबे पर बकरे को बांधकर 144 बार गोल घुमाया जाता है। इसके बाद ग्रामीण ही दोनों ओर निकली रस्सी पर दाएं-बाएं झूला झूलते हैं। फिर इन व्यक्तियों पर ...
29
30
छिंदवाड़ा में एक बालिका द्वारा नाग देवता से ब्याह किए जाने की अनोखी घटना हाल ही में सामने आई है। मामला शहर से करीब आठ किमी दूर स्थित ग्राम रोहना कलां का है। इसे आस्था कहें या अंधविश्वास, लेकिन हकीकत तो यही है। रोहना कलां में रहने वाले संपत भलावी की ...
30
31
देश भले ही 21वीं सदी में प्रवेश कर गया हो लेकिन गांवों में आज भी अंधविश्वास का अंधेरा छाया हुआ है। तांत्रिकों के कहने पर आज भी लोग अपने घर के दुलारों की बलि दे देते हैं। संतान पाने की कामना में दूसरे की संतान को बेरहमी से कत्ल कराने में इलाहाबाद, ...
31
32

सिर्फ हरी मिर्च पर गुजारा

सोमवार,नवंबर 23, 2009
ओंकारेश्वर। यहाँ एक रेस्टोरेंट में हलवाई का कार्य करने वाले महावीर माली हर दिन जब तक आधा किलो हरी मिर्च नहीं खा लेता तब तक उसका पेट नहीं भरता। यह सिलसिला 9 वर्षों से जारी है। इतने ही समय से यह शख्स अन्न का भी त्याग कर चुका है। भोजन के रूप में केवल ...
32