मेरठ में कबाड़ी की 4 करोड़ की कोठी जब्त, मिस्त्री से कबाड़ी बना, चोरी की गाड़ियों से आलीशान कोठी बनाई

हिमा अग्रवाल| Last Updated: शनिवार, 16 अक्टूबर 2021 (23:40 IST)
मेरठ। बाहुबली और अपराधियों के खिलाफ योगी सरकार का हंटर जमकर चल रहा है। लगातार गैंगस्टर, भूमाफिया और शातिर अपराधियों की अर्जित सम्पत्ति जब्त और कुर्क करने की कार्रवाई चल रही है। इस कड़ी में आज वाहन चोरों के कुख्यात सरगना नईम उर्फ गल्ला की करोड़ों की संपत्ति को पुलिस ने जब्त कर लिया। सत्ता के गलियारों में हाजी गल्ला का बड़ा रसूख रहा है।
पिछली समाजवादी सरकार में गल्ला की चांदी ही चांदी रही है, लेकिन उत्तर प्रदेश में योगी सरकार के आते ही हाजी गल्ला को सलाखों के पीछे जाना पड़ा। वहीं अब पुलिस ने अपराध से अर्जित की गई करोड़ों की संपत्ति को ज़ब्त कर लिया है।

मेरठ के थाना सदर बाजार स्थित पटेल नगर इलाके में लगभभ 4 करोड़ों की आलीशान कोठी नामीगिरामी वाहन चोर नईम उर्फ गल्ला की है। पिछले दो दशकों से गल्ला वाहन चोरी के कारोबार से जुड़ा हुआ था, ये उत्तर प्रदेश, हरियाणा, दिल्ली और पंजाब समेत अन्य कई राज्यों से लेटेस्ट महंगी लग्जरी गाड़ियों की चोरी करवाता और उनके स्पेयर पार्ट्स बेचने का गोरखधंधा चला रहा था। पैसे के रौब के आगे सरकारी सिस्टम से बचता रहा। नईम गल्ला के खिलाफ विभिन्न राज्यों में करीब 32 मुकदमे दर्ज भी हुए हैं।

समाजवादी सरकार में उसे राजनीतिक संरक्षण मिला और उसकी काली कमाई करोड़ों में पहुंच गई। लेकिन वर्तमान में योगी सरकार के चाबुक के आगे उसका वाहन चोरी का धंधा फलफूल नहीं सका और उसको पुलिस के आगे घुटने टेकने पड़ गए। पश्चिमी उत्तर प्रदेश में वाहन चोरों के खिलाफ की गई कार्रवाई में अब तक कई मन्नू कबाड़ी, इकबाल, राहुल काला समेत कई बड़े वाहन चोरों पर गैंगस्टर और कुर्की तक की कार्रवाई की जा चुकी है।

मेरठ का वाहन चोर बाजार भारत में ही नहीं अपितु विदेशों में भी बदनाम है, जिसके चलते योगी सरकार ने इसके खात्मे के लिए कड़ा रुख अपनाते हुए कार्रवाई के आदेश दिए थे, जिसके चलते स्थानीय पुलिस ने अब वाहन चोरों के सरगना गल्ला के खिलाफ पुलिस ने गैंगस्टर एक्ट के तहत कार्रवाई करते हुए संपत्ति जब्त कर ली है। हालांकि मेरठ पुलिस ने गल्ला और उसके चार बेटों की गिरफ्तारी भी कर ली गई है।
मेरठ पुलिस ने गल्ला की 4 करोड़ की आलीशान कोठी के अतिरिक्त दो बंगले और चिन्हित किए हैं, जिस पर कुछ दिन बाद कार्रवाई की जाएगी। पुलिस अधिकारियों के मुताबिक गल्ला और उसके गुर्गे ऑन डिमांड गाड़ी चोरी करवाते थे। जिसके बाद गाड़ियों को या फिर उनके स्पेयर पार्ट्स को बेचा जाता था।

चोरी के वाहनों का सरताज हाजी गल्ला सलाखों के पीछे है और उसकी गलत तरीके से कमाई गई सम्पत्ति और रसूख भी जमींदोज हो चुका है। गल्ला जैसे अपराधी पर पुलिस का चाबुक चलने से वाहन कटान बाजार सोती गंज में हड़कंप मचा हुआ है। वही लोगों में चर्चा है कि शायद उन्हें अब वाहन चोरी से निजात मिल जाए।



और भी पढ़ें :