उदयपुर में कन्हैया के अंतिम संस्कार में उमड़ी भीड़, नम आंखों से दी विदाई

पुनः संशोधित बुधवार, 29 जून 2022 (15:09 IST)
हमें फॉलो करें
उदयपुर। के में को अंतिम विदाई देने भारी भीड़ उमड़ पड़ी। अशोक नगर स्थित श्मशान घाट पर कन्हैया का अंतिम संस्कार किया गया। इस दौरान लोग कन्हैया अमर रहें, हत्यारों को फांसी दो जैसे नारे लगाते रहे।

कन्हैया के बड़े बेटे ने पिता को मुखाग्नि दी। नूपुर शर्मा के समर्थन में बयान देने पर 2 लोगों ने दुकान में घुसकर उनकी मंगलवार को बेरहमी से हत्या कर दी थी।

शहर के 7 थाना क्षेत्रों में कर्फ्यू के बावजूद कन्हैया की अंतिम यात्रा में बड़ी संख्या में लोग उमड़े। कोई पैदल तो कोई बाइक या साइकिल से, हर कोई कन्हैया को अंतिम विदाई देना चाहता था। पूरे रास्ते लोग नारेबाजी करते गए। श्मशान घाट में भी जब तक कन्हैया का अंतिम संस्कार हुआ, लोग नारे लगाते रहे।
इससे पहले पोस्टमार्टम के बाद कन्हैयालाल का शव घर ले जाया गया, तो घर में कोहराम मच गया। उनकी पत्नी जशोदा ने हत्यारों को फांसी की सजा की मांग करते हुए कहा कि अगर आरोपियों को फांसी नहीं दी गई तो ये लोग कई लोगों को मारेंगे।

इस बीच पुलिस ने घटना के सभी आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। राजस्थान सरकार ने आरोपियों की गिरफ्तारी में बड़ी भूमिका निभाने वाले 5 पुलिसकर्मियों को आउट ऑफ टर्न प्रमोशन भी दिया।
शरीर पर किए थे 26 वार : कन्हैयालाल की पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में चौंकाने वाले खुलासे हुए हैं। रिपोर्ट के मुताबिक आरोपियों ने धारदार हथियारों से कन्हैया पर 26 वार किए थे। उनके शरीर पर 13 कट हैं। इनमें से अधिकतर गर्दन के आसपास हैं।

भाजपा ने बताया आतंकी हमला : भाजपा नेता राज्यवर्धन सिंह राठौर ने आरोप लगाया कि राजस्थान के उदयपुर में 2 व्यक्तियों द्वारा कन्हैयालाल की गला काटकर जान लेने की घटना कोई सामान्य हत्याकांड नहीं है बल्कि एक आतंकी हमला है। उन्होंने कहा कि राजस्थान कट्टरपंथियों का अड्डा बनता जा रहा है और देश के बाहर के आतंकी संगठनों को बढ़ावा देने के लिए राज्य की भूमि इस्तेमाल की जा रही है।



और भी पढ़ें :